अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने दो दिन पहले यहां मुस्लिम बहुल क्षेत्र शाह-ए-आलम में नये नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के लिए शनिवार को कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया. राज्य सरकार ने बताया कि बृहस्पतिवार की इस हिंसा के लिए कम से कम 59 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. हिंसा में दो दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गये थे.

रूपाणी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सरकार ने घोषणा की है कि इस हिंसा के पीछे जो भी होंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. ऐसे लोगों की पहचान सीसीटीवी फुटेज और अन्य सबूतों के आधार पर की जाएगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हिंसा फैला रही है. गिरफ्तार किये गये पार्षद किस दल के हैं? वह कांग्रेस से हैं. इसमें कोई संदेह नहीं है कि कांग्रेस ही इस (हिंसा) के पीछे है. स्थानीय कांग्रेस पार्षद शहजाद खान पठान को हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है.

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उपद्रवियों की पहचान
गृहमंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने बताया कि पठान के अलावा 58 अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया है, उनकी पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गयी. जडेजा ने कहा कि पुलिस पर हमला करते हुए देखे जाने वाले सभी लोग गिरफ्तार किये जाएंगे. शाह-ए-आलम इलाके में बृहस्पतिवार को संशोधित नागरिकता कानून और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी के खिलाफ प्रदर्शन हिंसक हो गया था. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया था.