अहमदाबाद: गुजरात के बोटाद जिले में एक डॉक्टर ने कथित रूप से नशे में धुत्त होकर प्रसव कराया जिससे जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हो गई. पुलिस ने डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि कामिनी बेन चांचिया (22) को बोटाद के सरकारी सोनावाला अस्पताल लाया गया जहां सोमवार देर रात डॉक्टर पी. जे. लखानी ने उसका प्रसव कराया. बोटाद के पुलिस अधीक्षक हर्षद मेहता ने बताया कि डिलीवरी के कुछ ही देर बाद पहले बच्चे की और फिर मां की मौत हो गई. परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

मेहता ने कहा, ‘‘पुलिस को पता चला है कि डॉक्टर नशे में धुत्त होकर ड्यूटी पर आए थे. डॉक्टर के खिलाफ मद्य निषेध कानून के तहत मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है. उनके ब्‍लड का सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया है.’’

जम्‍मू कश्‍मीर: विधानसभा भंग करने पर बोले राज्‍यपाल, सरकारें व्‍हाट्सएप पर नहीं बनती, मैंने केंद्र की बात नहीं मानी

गुजरात में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध है. इसके बावजूद नशे में धुत्त होकर डिलीवरी कराने की यह घटना खूब चर्चित हो रही है. चांचिया के शव को पोस्टमार्टम के लिए भावनगर सदर अस्पताल भेजा गया है. नियमानुसार ऑटोप्सी रिपोर्ट सिविल सर्जन के नेतृत्व वाली समिति को भेजी जाएगी. समिति तय करेगी कि डॉक्टर ने लापरवाही की है या नहीं.

मप्र चुनाव: वोटिंग के पहले कॉफी हाउस में ‘बेफिक्र’ शिवराज- जीत का आत्‍मविश्‍वास या टोटके का सहारा?

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार लापरवाही के आरोप की पुष्टि सिर्फ सिविल सर्जन के नेतृत्व वाली समिति ही कर सकती है. यदि रिपोर्ट सकारात्मक रही तो हम लापरवाही से जुड़ी आईपीसी की धाराओं में भी मामला दर्ज करेंगे. मेहता ने बताया कि लखानी चूंकि द्वितीय श्रेणी के अधिकारी हैं, ऐसे में उनकी गिरफ्तारी से जुड़ी सूचना उनके वरिष्ठों और जिला विकास अधिकारी को दे दी गई है.