गांधीनगरः गुजरात में राज्यसभा के लिए 26 मार्च को होने वाले चुनाव से पहले गुजरात विधानसभा में राकांपा के एकमात्र विधायक ने मंगलवार को राज्य में सत्ताधारी भाजपा को समर्थन देने की घोषणा कर दी. भाजपा गुजरात से राज्यसभा की चार सीटों में से तीन सीटें जीतने की उम्मीद कर रही है. राकांपा पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के अलावा राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस के साथ गठबंधन में है. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

पोरबंदर जिले के कुटियाना से राकांपा विधायक कंधाल जडेजा ने कहा, ‘‘मैंने गृह राज्यमंत्री प्रदीपसिंह जडेजा के साथ एक बैठक की जिसके बाद मैंने राज्यसभा चुनाव में भाजपा का समर्थन करने का निर्णय किया. मैंने यह निर्णय इसलिए लिया क्योंकि मुझे उम्मीद है कि मैं अपने क्षेत्र में गुजरात सरकार की मदद से लंबित कार्य पूरा करा पाऊंगा.’ Also Read - केजरीवाल ने लोगों को गीता पाठ करने की दी सलाह, कहा- गीता के 18 अध्याय की तरह लॉकडाउन के बचे हैं 18 दिन 

गुजरात की 182 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 73 सदस्य थे. पांच विधायकों के इस्तीफे के बाद अब उसके सदस्यों की संख्या कम होकर 68 रह गई है. उसने अपने विधायकों को जयपुर भेज दिया है ताकि उन्हें खरीद-फरोख्त से बचाया जा सके. प्रदीपसिंह जडेजा ने कहा कि राकांपा विधायक के समर्थन से उम्मीद है कि भाजपा राज्यसभा की तीन सीटें जीत लेगी. Also Read - भाजपा अध्यक्ष ने कहा- लॉकडाउन में पैदल घर को निकले लोगों की मदद करें पार्टी कार्यकर्ता 

राकांपा विधायक का यह समर्थन ऐसे समय आया है जब पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शंकरसिंह वाघेला ने दावा किया था कि वह कांग्रेस का समर्थन करेंगे. उन्होंने कहा था, ‘‘हम राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा के खिलाफ लड़ रहे हैं. राकांपा और कांग्रेस राष्ट्रीय स्तर पर गठबंधन में हैं इसलिए हम अपनी पार्टी विधायक को कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में मतदान करने का निर्देश देंगे.’’ गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावडा ने जयपुर में कहा कि पार्टी आलाकमान इस घटनाक्रम को लेकर राकांपा प्रमुख शरद पवार और उनकी पार्टी के अन्य नेताओं के साथ संपर्क में है.