अहमदाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके इजरायली समकक्ष बेंजामिन नेतन्याहू ने अहमदाबाद में कड़ी सुरक्षा के बीच शहर में रोड शो किया. रोड शो के दौरान सड़क के दोनों तरफ हजारों लोग कतारबद्ध खड़े थे. साबरमती आश्रम का दौरा करने के बाद पीएम मोदी और बेंजामिन नेतन्याहू ने अहमदाबाद के देव धोलेरा गांव में आइक्रिएट सेंटर का उद्घाटन कर उद्योगपतियों से मुलाकात की.

इस कार्यक्रम के दौरान इजरायल के पीएम नेतन्याहू ने अपने भाषण कहा कि दुनिया केवल आईपैड और आईपॉड्स के बारे में जानती है, लेकिन उन सबसे ज्यादा भी कुछ है. उन्होंने कहा आईक्रिएट के बारे में भी दुनिया को जानना चाहिए.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ़ करते हुए बेंजामिन नेतन्याहू अपने भाषण में कहा कि मेरी और प्रधानमंत्री मोदी दोनों ही सोच सकरात्मक है, मै और पीएम मोदी दोनों की सोच जवान है और हम दोनों भविष्य को लेकर आशावादी हैं.

सितंबर 1918 में प्रथम विश्व युद्ध के दौरान तुर्किस्तान से हाइफा पोर्ट को आजाद कराने में भारत का योगदान और सैनिकों के बलिदान को याद करते हुए बेंजामिन नेतन्याहू कहा कि हैफा की आजादी में गुजरती सैनिकों ने अपनी जान गंवाईं थीं. उनके इस बिलदान पर उन्होंने पूरे गुजरात का भी शुक्रिया अदा किया.

इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने संबोधन के आखिर में कहा- जय हिंद! जय भारत! जय इजरायल. थैक्यू प्राइम मिनिस्टर मोदी, आप सभी का धन्यवाद. उन्होंने पीएम मोदी को भी शुक्रिया कहा. 

गुजरात की जनता ने किया नेतन्याहू का भव्य स्वागत

गौरतलब हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदबाद हवाई अड्डे पर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का स्वागत किया और उसके बाद दोनों नेताओं ने साबरमती आश्रम तक अपना रोडशो शुरू किया. दोनों प्रधानमंत्रियों का काफिला जब आगे बढ़ रहा था, तब इस दौरान वहां मौजूद भीड़ ने भारत और इजरायल के झंडे लहराए. रोड शो के रास्ते में सांस्कृतिक प्रदर्शनों और प्रस्तुतियों के लिए 50 से ज्यादा स्टेज लगाए गए थे.