इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक ऑडियो खूब वायरल हो रहा है जिसमें वह गुजरात के बीजेपी कार्यकर्ता के साथ बात कर रहे हैं. बीजेपी का ये कार्यकर्ता पेशे से स्टेशनरी दुकानदार है और वडोदरा का रहने वाला है. बीजेपी को उम्मीद है कि इस वीडियो के जरिए वह मतदाताओं तक अपनी बात और मजबूती से पहुंचा सकेगी. बातचीत में मोदी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के उस बयान का भी जिक्र कर रहे हैं जिसमें सोनिया ने उन्हें मौत का सौदागर कहा था. 

सर्वे: मोदी का जलवा कायम, गुजरात-हिमाचल में खिलेगा कमल

सर्वे: मोदी का जलवा कायम, गुजरात-हिमाचल में खिलेगा कमल

ऑडियो में पीएम मोदी वडोदरा के बीजेपी कार्यकर्ता गोपाल गोहिल से गुजरात चुनाव को लेकर बात कर रहे हैं. दोनों के बीच गुजराती में बात हो रही है. ये बात दिवाली के दिन 19 अक्टूबर की है. दीवाली की शुभकामनाओं के साथ ये बातचीत आगे बढ़ती है. इसके बाद दोनों गुजरात के राजनीतिक हालात और पार्टी को लेकर बात करते हैं. ये बातचीत करीब 3 मिनट की है.

गोपाल गोहिल, मोदी से पूछते हैं कि कांग्रेस राज्य में बीजेपी के लिए नकारात्मक माहौल बना रही है, इससे कैसे निपटा जाए? इस पर मोदी कहते हैं- जब से जन्म (पार्टी का जन्म) हुआ है, अपने नसीब में गाली ही लिखी है. जनसंघ के समय से ही ऐसा होता आया है. ये सब सुन सुनकर ही तो यहां तक पहुंचे हैं. इसलिए इसकी चिंता ना करें. 

गुजरात में हर बार बीजेपी को क्यों गले लगाता है मुस्लिम वोटर?

गुजरात में हर बार बीजेपी को क्यों गले लगाता है मुस्लिम वोटर?

मोदी कहते हैं- क्या ऐसा कोई चुनाव देखा है जिसमें झूठ ना फैलाया गया हो. मुझे मौत का सौदागर तक कहा गया. हत्यारा, लुटेरा, खून में लथपथ हाथ. लेकिन जनता सच को जानती है. पहले ऐसे झूठ कानोंकान फैलते थे, अब वॉट्सएप के जरिए फैलते हैं. इस तरह के प्रचार को गंभीरता से मत लो, हम सच की राहत पर हैं. हमें ये चिंता नहीं करनी है. इतने सालों में इनका एक भी आरोप सही साबित नहीं हुआ है. हमें झूठी बातों पर ध्यान नहीं देते हुए सच की राह पर चलना है.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में 47 साल के गोपाल गोहिल ने कहा कि 2011 में गांधीनगर में हुई सदभावना रैली के दौरान मोदीजी से हाथ मिलाया था जब वह गुजरात से सीएम थे. मैं और मेरा परिवार भाग्यशाली हैं कि मोदीजी से बात करने का मौका मिला. ऐसा मौका जिंदगी में एक बार मिलता है. मुझे कॉन्फ्रेंस के लिए तैयार रहने को कहा गया था. लेकिन मुझे उम्मीद नहीं थी कि बातचीत के लिए मेरा नंबर चुना जाएगा. मैं बहुत रोमांचित हूं.