चुनाव आयोग ने आज गुजरात चुनाव तारीखों का ऐलान कर दिया. गुजरात में कुल 182 सीटों पर चुनाव होना है. राज्य में दो चरणों में चुनाव होंगे. पहले चरण में 89 और दूसरे चरण में 92 सीटों पर चुनाव होगा. चुनाव में वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल होगा. सभी पोलिंग बूथों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. उम्मीदवारों के चुनावी खर्च पर आयोग की खास नजर होगी. क्या-क्या कहा मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति ने पढ़ें-

  • -गुजरात में दो चरणों में होंगे चुनाव.
  • -पहले चरण की वोटिंग 9 दिसंबर, दूसरे चरण की वोटिंग 14 दिसंबर को.
  • -पहले चरण में 89 और दूसरे चरण में 92 सीटों पर वोटिंग.
  • -वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी.
  • -हर उम्मीदवार 28 लाख रुपये ही खर्च कर सकता है
  • -चुनाव खर्च के लिए विशेष बैंक खाते खोले जाएंगे
  • -हर उम्मीदवार को अलग से खाता खोलना होगा, इसी से खर्च करना होगा
  • -उम्मीदवारों के खर्च पर बैंक अधिकारी नजर रखेंगे
  • -चुनाव आयोग मोबाइल ऐप जारी करेगा, एप के जरिए कर्मचारियों की तैनाती
  • -विज्ञापनों पर नजर रखेगा चुनाव आयोग
  • -बॉर्डर पोस्ट पर भी सीसीटीवी लगाए जाएंगे
  • -102 बूथ पर महिला स्टाफ की तैनाती
  • -सभी 50 हजार 128 पोलिंग स्टेशनों पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे
  • -गुजरात में आदर्श आचार संहिता लागू
  • -गुजरात चुनाव में वीवीपैट का इस्तेमाल होगा
  • -गाइडलाइंस गुजराती भाषा में भी
  • -गुजरात में 4 करोड़ 30 करोड़ वोटर
  • -वोटरों के लिए हेल्पलाइन सेंटर खुलेंगे
  • -गुजरात में 50 हजार से ज्यादा पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे

विपक्ष के निशाने पर चुनाव आयोग

पिछली प्रेस कांफ्रेंस में चुनाव आयोग ने सिर्फ हिमाचल के चुनाव कार्यक्रम का ही ऐलान किया था. तब गुजरात की चुनाव तारीखों का ऐलान न कर आयोग ने सभी को चौंकाया था. गुजरात चुनाव की तारीखों के ऐलान में देरी को लेकर विपक्ष लगातार चुनाव आयोग और केंद्र सरकार पर निशाना साध रहा था. विपक्ष यह आरोप लगा रहा था कि गुजरात चुनावों के कार्यक्रम में देरी करके चुनाव आयोग राज्य और केंद्र की बीजेपी सरकार को आचार संहिता लगने से पहले लोकलुभावन घोषणाओं के लिए मौका दे रही है.

बता दें कि चुनाव आयोग ने 12 अक्टूबर को हिमाचल चुनाव का ऐलान तो कर दिया था लेकिन गुजरात चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा नहीं की थी. हालांकि बाद में आयोग ने सिर्फ ये साफ किया था कि गुजरात में चुनाव 18 दिसंबर से पहले होंगे.