नई दिल्‍ली: देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच आज बुधवार को इससे संक्रमित लोगों की संख्या 28 पहुंच गई. इस बीच गुड़गांव में पेटीएम कंपनी का एक कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित मिला है. हाल ही में वह इटली से वापस लौटा है. बता दें कि दुनियाभर में इससे करीब 3100 लोगों की जान जा चुकी है. Also Read - जोया मोरानी ने दूसरी बार किया कोरोना के इलाज के लिए प्लाज्मा डोनेट, पूरा परिवार था महामारी से संक्रमित 

पीटीएम ने एक आधिकारिक बयान में कहा है कि गुड़गांव के ऑफिस का हमारा कर्मचारी इटली से लौटा है, दुखद है कि वह कोरोना वायरस से संक्रमण के टेस्‍ट में पॉजिटिव पाया गया है. वह उचित इलाज ले रहा है. ऐतिहात के तौर पर, हमने उसकी टीम के सदस्‍यों को तुरंत हेल्‍थ टेस्‍ट कराने के लिए कहा है. Also Read - Lockdown 5.0: इस दिन से लागू होगा लॉकडाउन 5.0! मन की बात में पीएम मोदी कर सकते हैं ऐलान, जानें क्या होंगे नए नियम


संक्रमित लोगों में 16 इतालवी पर्यटक हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि देश में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमण के 28 मामलों की पुष्टि हो गई है, इनमें इटली के 16 पर्यटक भी शामिल हैं. विदेश मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि विदेशों में 17 भारतीय कोरोना वायरस से संक्रमित हैं जिनमें से जापान के क्रूज जहाज से 16 मामले आए हैं जबकि यूएई से एक भारतीय इनमें शामिल हैं.

राष्ट्रपति नाथ कोविंद के कार्यालय ने कहा कि इस बार राष्ट्रपति भवन में होली मिलन समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह होली का त्योहार नहीं मनाएंगे और किसी भी ‘होली मिलन’ समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा.
बता दें कि कोरोना वायरस से संक्रमित दिल्ली के मरीज के संपर्क में आने वाले 88 लोगों की जांच की जाएगी. वहीं, दिल्ली में अब तक एक पुष्ट मामला सामने आया है. मरीज को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. वह मयूर विहार का रहने वाला है. वह इटली से बुडापेस्ट गया और फिर विएना से दिल्ली पहुंचा. अभी तक 88 लोगों की पहचान की गई है जो उसके भारत लौटने के बाद उसके संपर्क में आए थे. उन सभी लोगों की जांच करने के प्रयास किए जा रहे हैं.”

आपात स्थिति के मद्देनजर 19 सरकारी और छह निजी अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं. विदेशों से आने वाले सभी यात्रियों की हवाईअड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है और किसी भी तरह के लक्षण नजर आने पर उन्हें आरएमएल अस्पताल भेजा जा रहा है. हवाईअड्डों पर अब तक 1,16,579 मरीजों की जांच की गई है. मरीजों को देखते हुए दिल्ली के 19 सरकारी अस्पतालों और छह निजी अस्पतालों में व्यवस्था की गई है. इलाज लिए पृथक बेड और पृथक वार्ड बनाए गए हैं. (इनपुट: एजेंसी)