नई दिल्ली: गुरुद्वारों में हर खासो आम को हर समय मिलने वाले कढ़ाह प्रसाद और लंगर के लाजवाब स्वाद और धार्मिक महत्व के बारे में तो शायद सभी जानते हैं लेकिन अब दिल्ली सिख गुरुद्वारा समिति सातवां एजुकेशन लंगर लगाने जा रही है, जिसमें युवाओं को नए जमाने के रोजगार के तमाम साधनों की जानकारी दी जाएगी.

छत्‍तीसगढ़: बीजेपी उम्‍मीदवार मंत्री के खिलाफ Rs.7.5 करोड़ की सामग्री बांटने की शिकायत की

प्रतिष्ठित संस्थान देंगे जानकारी
दिल्ली सिख गुरुद्वारा समिति राजधानी दिल्ली के ऐतिहासिक गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब परिसर में आगामी दो और तीन नवंबर को एजुकेशन लंगर (कैरियर मेला 2018) आयोजित करेगी, जिसमें विषेशज्ञों द्वारा युवकों को रोजगार के परंपरागत साधनों के अलावा डिजिटल मार्केटिंग, डाटा एनालिसिस, सूचना प्रौद्योगिकी, बैंकिंग, वित्त तथा बिज़नेस अनलिस्ट्स जैसे रोजगार के तमाम आधुनिक साधनों की जानकारी दी जाएगी.

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक समिति के अध्यक्ष मंजीत सिंह ने बताया कि राजधानी में सिख युवकों के लिए लगाए जाने वाले इस सबसे बड़े वार्षिक कैरियर मेले में यूएस एजुकेशन, फ्रेंच दूतवास, ब्रिटिश कॉउन्सिल, इन्दिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, भारतीय स्टेट बैंक, एक्सिस बैंक तथा अल्पसंख्यक मंत्रालय सहित तकरीबन एक सौ प्रतिष्ठित राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय एवं संस्थान भाग लेँगे.

थरूर ने पीएम मोदी को बताया ‘शिवलिंग पर बैठा बिच्छू’, रविशंकर प्रसाद ने कहा- राहुल गांधी माफी मांगे

बेहतर भविष्य और रोजगार की सलाह
उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष इस मेले में 85 विश्वविद्यालयों ने 12 हजार छात्रों को रोजगार पूरक शिक्षा तथा भविष्य में रोजगार के अबसरों की जानकारी प्रदान की थी. हर वर्ष आयोजित किए जा रहे इस मेले का यह सातवां संस्करण होगा. इस बार मेले में दिल्ली और उसके आसपास के 20 हजार युवकों के भाग लेने की उम्मीद है. इस दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय तथा पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के रोजगार विशेषज्ञ यहां आने वाले युवाओं को शिक्षा से जुड़े उनके बेहतर भविष्य और रोजगार के बारे में उपयोगी सलाह देंगे.

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक समिति के अध्यक्ष मंजीत सिंह ने बताया कि मेले को अधिक सार्थक बनाने के लिए समिति ने विभिन्न विश्वविद्यालयों, औद्योगिक घरानों, औद्यौगिक संगठनों तथा कौशल केंद्रों से अनुवन्ध किया है ताकि छात्रों को बिभिन्न बिधाओं में रोजगार के लिए तैयार किया जा सके. (इनपुट एजेंसी)