नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने प्रतिबंधित आतंकवादी समूह खालिस्तान कमांडो फोर्स के एक सदस्य तथा जरनैल सिंह भिंडरावाले के करीबी को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। भिंडरावाले 1984 में सेना के ‘ऑपरेशन ब्लू स्टार’ में मारा गया था। बता दें कि ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार को 34 साल हो चुके हैं. सेना ने स्वर्ण मंदिर को खालिस्तान समर्थक आतंकवादियों से मुक्त कराने के लिए ऑपरेशन ब्लू स्टार को अंजाम दिया था, जो एक से 10 जून तक चला था. जून 1984 में आपरेशन ब्लू स्टार के दौरान सेना की कार्रवाई में सैकड़ों खालिस्‍तान समर्थक आतंकी मारे गए थे.

53 साल का गुरसेवक खालिस्तान कमांडो फोर्स (केएफसी) का सदस्य है. उसे अपराध शाखा ने 12 मार्च को दिल्ली के अंतरराज्यीय बस अड्डे से गिरफ्तार किया, जहां वह अपने एक परिचित से मिलने आया था.

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) अजित कुमार सिंगला ने बताया कि गुरसेवक 50 से अधिक आतंकवादी गतिविधियों, पुलिस अधिकारियों और खबरियों की हत्या, बैंकों, पुलिस थाने में डकैती और अन्य मामलों में शामिल रहा है. पुलिस ने बताया कि गुरसेवक कई मामलों में 26 से भी ज्यादा वर्षों तक जेल में रहा और वह नियमित रूप से पाकिस्तान स्थित कुछ आतंकवादी संगठनों के संपर्क में था.