सुल्तानपुर लोधी: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह 23 नवंबर को गुरु नानक देव के 550वें ‘प्रकाश पर्व’ के अवसर पर राज्य में वर्ष भर चलने वाले कार्यक्रमों का शुभारंभ करेंगे. एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि शनिवार को यहां मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव सुरेश कुमार की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक में इसके बारे में निर्णय लिया गया. Also Read - अमरिंदर सिंह का पुलिस को समर्थन, करतारपुर के कुछ श्रद्धालुओं से हो रही है पूछताछ

डिबेट में ‘कंप्यूटर बाबा’ के आरोपों पर भिड़ गए साधु-संत, नर्मदा व गायों की दुर्दशा बना मुद्दा Also Read - पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने कहा- बिना पासपोर्ट के एक साल तक करतारपुर आ सकेंगे श्रद्धालु

धार्मिक नगरी में आएगा बदलाव
बैठक में विधायक नवतेज सिंह चीमा और मुख्यमंत्री के विशेष प्रधान सचिच गुरकीरत किरपाल सिंह भी मौजूद थे. बैठक की अध्यक्षता करते हुये मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव सुरेश कुमार ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान यहां एक स्थानीय अनाज मंडी में मुख्यमंत्री कई प्रमुख परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे जिससे धार्मिक शहर सुल्तानपुर लोधी में बड़ा बदलाव आएगा. सिख धर्म के संस्थापक और पहले गुरु गुरुनानक देव का जन्म कार्तिक पूर्णिमा के दिन हुआ था. यही वजह है कि इस दिन को सिख धर्म के अनुयायी बड़े ही धूमधाम से प्रकाश उत्सव और गुरु पर्व के रूप में मनाते हैं. Also Read - पाक सेना ने कहा- करतारपुर आने वाले भारतीय सिख श्रद्धालुओं का लगेगा पासपोर्ट

चुनावी मौसम में जोगी बोले- निकम्‍मी हो चुकी कांग्रेस से लड़ूंगा, लेकिन गांधी परिवार के खिलाफ नहीं बोलूंगा

गुरु नानक जी का जन्म पंजाब के तलवंडी नामक स्थान पर 15 अप्रैल, 1469 को एक किसान के घर में हुआ था. यह स्थान लाहौर से 30 मील पश्चिम में है. बाल्यावस्था में ही गुरुनानक जी दूसरों से अलग थे. जब उनके साथी जब खेल-कूद में अपना समय व्यतीत करते तो वे नेत्र बन्द कर आत्म-चिन्तन में रम जाते थे. उन्होंने मानवता का सन्देश दिया, गुरु नानक देव ने भाईचारा, एकता और जातिवाद को मिटाने के लिए कई उपदेश दिए. उन्होंने ही ‘इक ओंकार’ का वह नारा दिया, जिसमें उन्होंने ईश्वर एक है की शिक्षा दी, उन्होंने कहा ईश्वर सभी जगह मौजूद है, हम सबका “पिता” वही है इसलिए सबके साथ प्रेमपूर्वक रहना चाहिए.

guru nanak
बैठक में विधायक नवतेज सिंह चीमा और मुख्यमंत्री के विशेष प्रधान सचिच गुरकीरत किरपाल सिंह भी मौजूद थे. बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव सुरेश कुमार ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान यहां एक स्थानीय अनाज मंडी में मुख्यमंत्री कई प्रमुख परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे जिससे धार्मिक शहर सुल्तानपुर लोधी में बड़ा बदलाव आएगा. (इनपुट एजेंसी)