नई दिल्ली: अपनी एथलीट और आकर्षक बॉडी की वजह से दुनिया में खास फैन फॉलोवर रखने वाले कनाडा के प्राइम मिनिस्टर जस्टिन ट्रूडो शनिवार को भारत पहुंच गए. मिस्टर हैंडसम पीएम के नाम से जाने वाले ट्रूडो मॉडलिंग और बॉक्सिंग के अलावा एक्टिंग में भी हाथ आजमा चुके हैं. इस हैंडसम हंक के उनके अपने कनाडा ही नहीं दुनिया के तमाम देशों में लाखों की तादाद में दीवाने हैं. अकेले इंस्ट्राग्राम की बता करें तो ट्रूडो के करीब 20 लाख फॉलोवर हैं. वहीं इनके फेसबुक पेज पर 55 लाख लाइक हैं. ट्विटर पर इनके करीब 40 लाख फॉलोवर हैं. ट्रूडो सात दिन की भारत यात्रा पर हैं. ट्रूडो ने ट्विट कर कहा है कि मैं भारत जा रहा हूं और इस दौरे से नई नौकरियों के साथ-साथ दोनों देशों के लोगों के आपसी संबंध भी मजबूत होंगे. Also Read - अगले महीने होगा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 5 अस्थाई सीटों के लिए मतदान, भारत को सीट मिलना तय

इंडिया से लगाव के लिए जाने जाते हैं
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपने भारत प्रेम के लिए भी जाने जाते हैं. भारत के प्रति उनका खास लगाव है. पिछली बार जब कनाडा में इंडिया डे मनाया गया था तो ट्रूडो उस कार्यक्रम में भारतीय पहनावे में पहुंचे थे. यही नहीं, उन्होंने अपने भाषण को ‘जय हिंद’ कहकर खत्म भी किया था. जैसे ही उन्होंने जय हिंद कहा, वहां मौजूद लोग खुशी से झूम उठे थे. कनाडा में इंडिया डे परेड के दौरान पीएम जस्टिन ट्रूडो पर्पल कुर्ते में दिखे थे. अपने भाषण के दौरान उन्होंने भारत और कनाडा की दोस्ती इसी तरह बढ़ने की कामना भी की. पीएम ट्रूडो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक फोटो भी शेयर की थी जिसमें वो भारतीय लोगों के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं. Also Read - अमेरिकी सांसद का दावा, चीन को हराना है तो भारत को 'शक्तिशाली' बनाना होगा

जस्टिन ट्रूडो न सिर्फ देश-विदेश के गंभीर मसलों पर चर्चा करते हैं बल्कि जस्टिन एक्टिंग, बॉडी बिल्डिंग से लेकर फैंसी ड्रेस और भांगड़ा तक में अपना हाथ आजमा चुके हैं.

उनकी इस यात्रा से पहले इसी सप्ताह दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों (एनएसए) की बैठक हुई है जिसमें रक्षा और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के लिए सहयोग बढ़ाने के अलावा व्यापार और निवेश संबंधों को विस्तार देने पर चर्चा हुई है.

justin 2

दोनों राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों ने ट्रूडो और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच बैठक से पहले उनके लिए रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्रों में दोनों देशों के पारस्परिक संबंधों के विस्तार की भूमिका तैयार की है. कनाडा के राजनयिक सूत्रों ने संकेत दिया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में संभवत: कनाडा के कई हिस्सों में बढ़ते सिख अतिवाद को लेकर भारत की चिंता पर भी चर्चा हुई. दोनों देशों के बीच लंबे समय से आर्थिक भागीदारी समझौता अटका हुआ है. सूत्रों ने कहा कि भारत में कनाडा का निवेश उचित संरक्षण के अभाव में घट सकता है.

सूत्रों ने बताया कि दोनों पक्षों के अन्य वार्ताकारों की पिछले सप्ताह बैठक हुई, जिसमें इन अड़चनों को दूर करने और आगे बढ़ने पर विचार विमर्श हुआ. सूत्रों ने कहा कि मोदी-ट्रूडो की बैठक में भी इन मुद्दों पर विचार विमर्श हो सकता है. ट्रूडो प्रधानमंत्री के रूप में अपनी पहली भारत यात्रा पर आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ एक साल के दौरान भारत में कनाडा का निवेश 15 अरब डॉलर तक पहुंच गया है. मुक्त व्यापार करार से वहां के और भी निवेशक भारत में निवेश करने को अधिक इच्छुक होंगे. दोनों देश विशेष रूप से रक्षा, सुरक्षा और आतंकवाद से निपटने में सहयोग, व्यापार और निवेश तथा जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने को लेकर विचार विमर्श करेंगे.