नयी दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व कानून मंत्री हंसराज भारद्वाज का रविवार की शाम यहां एक अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वह 83 साल के थे . कानून मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने भारद्वाज के निधन पर शोक प्रकट किया है. भारद्वाज (83) के परिवार में पत्नी, एक बेटा और दो बेटियां हैं. Also Read - केंद्र सरकार पर कांग्रेस का आरोप, डर कर बदला दवा देने का फैसला, 1971 में इंदिरा गांधी ने दिया था करारा जवाब

  Also Read - कांग्रेस ने सांसदों के वेतन में कटौती का स्वागत किया, सांसद निधि बहाल करने की मांग

उनके परिवार ने बताया कि उन्होंने शाम करीब साढ़े छह बजे साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में अंतिम सांस ली. उन्हें बुधवार को गुर्दा संबंधी परेशानियों के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था. भारद्वाज के पुत्र अर्जुन भारद्वाज बताया कि दिवंगत कांग्रेस नेता का सोमवार को यहां निगमबोध घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा. भारद्वाज 2004 से 2009 तक केंद्रीय कानून मंत्री रहे. इसके बाद वह पांच साल तक कर्नाटक के राज्यपाल भी रहे. इसके अलावा वह कई बार राज्यसभा के सदस्य भी रहे.

भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने जताया शोक
प्रसाद ने संसद में वरिष्ठ कांग्रेस नेता के साथ अपने जुड़ाव को याद किया. उन्होंने ट्वीट किया कि श्री हंसराज भारद्वाज के निधन की दुखद खबर सुनकर बहुत दुख हुआ जो लंबे वक्त तक भारत के कानून मंत्री रहे. हम संसद में साथ रहे. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.