अहमदाबाद: पाटीदार आरक्षण आंदोलन के अग्रणी नेता हार्दिक पटेल ने मंगलवार को पटेल समुदाय के सदस्यों और नेताओं को एक खुला पत्र लिखकर गुजरात के सुरेंद्रनगर जिले के मोती मालवन गांव में 26 मई को आयोजित होने वाली महा पंचायत में शामिल होने को कहा है. मीडिया में जारी और वितरित खुले पत्र में पटेल ने राज्य भर में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) नेताओं से 26 मई को पंचायत स्थल पर पहुंचने को कहा है जिससे आरक्षण की मांग और प्रदर्शनकारियों पर पुलिस में दर्ज मामलों को वापस लिए जाने के लिये आगे की रणनीति तय की जा सके. Also Read - गुजरात में कांग्रेस के एक और विधायक ने दिया इस्‍तीफा, राज्‍यसभा चुनाव से पहले 8 MLA ने छोड़ा साथ

पटेल ने प्रदेश बीजेपी प्रमुख जीतू वाघानी और विधान सभा में नेता विपक्ष कांग्रेस के परेश धनानी को भी दो चिट्ठियां लिखी हैं और उनसे दोनों दलों के पाटीदार विधायकों के साथ इसमें शामिल होने का अनुरोध किया है. पटेल ने अपने खत में इन नेताओं को चेतावनी भी दी है. Also Read - राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में कांग्रेस के विधायकों का इस्तीफा, 3 माह में 7 MLA छोड़ चुके हैं पार्टी

उनके खत में कहा गया है कि आपको महापंचायत में शामिल होकर समुदाय को अपना समर्थन देना होगा. अगर आप (वाघानी , धनानी और पटेल विधायक) यहां नहीं आते हैं तो हम मानेंगे कि आप आरक्षण की इस लड़ाई में पाटीदार समुदाय के साथ नहीं हैं. Also Read - गुजरात की केमिकल फैक्ट्री में भीषण विस्फोट, आठ लोगों की मौत, 50 कर्मी गंभीर रूप से घायल

पटेल के निमंत्रण सह चेतावनी पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के वाघानी ने कहा कि पटेल कांग्रेस के प्यादे हैं और उन पर सुर्खियों में रहने के लिऐ ऐसे हथकंडे अपनाने का आरोप लगाया. धनानी ने हालांकि पटेल के कदम का स्वागत किया लेकिन कहा कि उन्हें खत अब तक नहीं मिला है.