हरिद्वार: श्रावण मास शुरू होते ही गंगाजल लेने आने वाले शिवभक्त कांवड़ियों का हरिद्वार आना शुरू हो जाता है, लेकिन कोविड-19 के चलते इस वर्ष की कांवड़ यात्रा स्थगित किए जाने के कारण जिला प्रशासन ने उत्तर प्रदेश तथा अन्य राज्यों से लगती अपनी सीमाएं सील कर दी हैं.Also Read - Kanwar Yatra Cancelled in UP: उत्तर प्रदेश में रद्द हुई कांवड़ यात्रा, योगी सरकार ने लिया फैसला

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हरिद्वार जिले में प्रवेश हेतु सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है. हरिद्वार में केवल उन्हीं वाहनों को प्रवेश दिया जा रहा है, जो अपने राज्यों से जिलाधिकारियों की लिखित अनुमति लेकर आए हैं. पुलिस ने सोमवार को सैकड़ों वाहनों को सीमा से ही वापस लौटा दिया क्योंकि उनके पास सक्षम अधिकारी द्वारा जारी अनुमति पास नहीं था. Also Read - Kanwar Yatra: कांवड़ यात्रा पर रोक के बाद उत्तराखंड में कांवड़ियों की नो-एंट्री, जबरन घुसने पर 14 दिन का क्वारेंटाइन और...

हर की पौडी पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. कोरोनावायरस संक्रमण फैलने से रोकने के लिए मोटरसाइकिल से आने वाले यात्रियों से भी कड़ी पूछताछ की जा रही है. जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बताया कि इस वर्ष की कांवड़ यात्रा स्थगित किए जाने के मद्देनजर समीपवर्ती राज्यों के जिलाधिकारियों से शिवभक्तों को हरिद्वार न आने देने का अनुरोध किया गया है. Also Read - Kanwar Yatra Updates: हरिद्वार न आएं कांवड़िए, कोरोना प्रतिबंधों के तहत होगी कड़ी कार्रवाई, ये है एडवाइजरी

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, सहारनपुर एवं बिजनौर जिलों के प्रशासन से लगातार संपर्क बना हुआ है. उन्होंने साफ किया कि हर की पौडी पर केवल अस्थि विसर्जन की ही अनुमति दी जाएगी.

(इनपुट भाषा)