नई दिल्लीः इस समय दिल्ली में चुनावी दौर चल रहा है और कुछ ही दिनों में विधानसभा के लिए मतदान होने वाले हैं. इस बीच सभी राजनीतिक दल एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने में जुटी हैं. ऐसे अब दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता केजरीवाल का एक बड़ा बयान आया है और यह बयान उस बयान के बाद है जिसमें भाजपा द्वारा अरविंद केजरीवाल को आतंवादी कहा गया था.Also Read - एमपी: पूर्व पीएम नेहरू की प्रतिमा में तोड़फोड़ का Video Viral हुआ, पुलिस का तुरंत एक्‍शन, 6 अरेस्‍ट

हर्षिता ने कहा कि अगर रोजमर्रा की दिक्कतों से परेशान दिल्ली की जनता को मुफ्त बिजली और मुफ्त पानी मिल रहा है तो क्या यह आतंकवादी गतिविधी है. हर्षिता ने कहा, ‘मेरे पिता हमेशा समाज सेवा से जुड़े रहे हैं. मुझे आज भी याद है कि वो (अरविंद केजरीवाल) मेरे भाई, मां, दादा-दादी को सुबह 6 बजे उठाते थे और हमें भगवत गीता पढ़ने के लिए देते थे. उन्होंने हमें ”इंसान से इंसान का हो भाईचारा” गीत सिखाया. क्या ये आतंकवाद है?’ Also Read - 8 years of Modi government: कांग्रेस जारी करेगी मोदी सरकार का 8 साल का रिपोर्ट कार्ड, जानें क्या-क्या बातें होंगी शामिल

Also Read - मोदी सरकार के 8 साल, ये हैं वो आठ नारे, जिन्होंने पीएम मोदी की छवि को गढ़ा

आपको बता दें कि बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने कुछ दिन पहले अपने एक बयान में सीएम केजरीवाल को आतंकवादी बताय था और मंगलवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी कहा कि केजरीवाल मासूमियतक चेहरा बनाकर जनता के बीच यह पूछने में लगे हैं कि क्या वह आतंकवादी हैं…? हर्षिता ने विपक्षी पार्टियों से जमकर सवाल किए. उन्होंने पूछा कि अगर राजधानी में शिक्षा व्यवस्था अच्छी हुई है तो क्या ये आतंकवा है.

अपने पापा और दिल्ली के सीएम केजरीवाल का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों को राजनीति कर लेने दीजिए इस विधानसभा चुनाव में केवल हम नहीं बल्कि दिल्ली की दो करोड़ जनता कैंपेन कर रही है और आगामी 11 फरवरी को यह पता चल जाएगा कि जनता किसके साथ है और क्या आतंकवाद है.