नई दिल्ली: हरियाणा विधानसभा चुनाव के शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच करीबी मुकाबले के चलते भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने निर्धारित कार्यक्रमों को रद्द करते हुए पार्टी की तरफ से प्रदेश के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार मनोहर लाल खट्टर को दिल्ली बुलाया है. गृह मंत्री शाह को आईटीबीपी के एक कार्यक्रम में शामिल होना था. अर्धसैनिक बल का यह कार्यक्रम ग्रेटर नोएडा में हो रहा है.

भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) की ओर समर्थन को लेकर नजर जमाए हुए है. खबरों के अनुसार, शाह ने राष्ट्रीय राजधानी में रणनीति बनाने के लिए मनोहर लाल खट्टर को भी बुलाया है. शाह दोपहर को भाजपा कार्यालय पहुंच सकते हैं.

हरियाणा में कांग्रेस बनाएगी सरकार! हुड्डा ने की सोनिया गांधी से बात

इस बीच, दुष्यंत चौटाला तक पहुंचने के लिए पहले से ही प्रयास किए जा रहे हैं. चौटाला ने हाल ही में दावा किया था कि राज्य में उनकी पार्टी के पास ही सत्ता की चाबी होगी. संयोग से जेजेपी पार्टी का चुनाव चिह्न भी चाबी ही है.

Haryana Assembly Election 2019: ये 30 साल का लड़का बनेगा ‘किंगमेकर’, जानिए US से पढ़ाई कर कैसे बदली राज्य की राजनीति

हलांकि, आधिकारिक रूप से भाजपा ने इस प्रकार के प्रयासों की बात का खंडन किया है. 90 सीटों वाली विधानसभा में रूझानों के अनुसार, भाजपा (42) और कांग्रेस (30) दोनों में से कोई भी खुद से सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है. जेजेपी 7 और निर्दलीय 6 पर बढ़त बनाए हुए है. मतगणना अभी जारी है.

(इनपुट-आईएएनएस)