Haryana Assembly Election 2019: हरियाणा में किसे बहुमत मिलेगा, कौन सरकार बनाएगा, अभी ये तय नहीं हो पाया है. रुझानों के नतीजे थोड़ी-थोड़ी देर में बदल रहे हैं. ये माना जा रहा है कि बीजेपी (Bhartiya Janta Party) बहुमत से दूर रह सकती है. ऐसे में कांग्रेस ने जेजेपी (Jannayak Janta Party) से समर्थन के लिए संपर्क किया है. कांग्रेस ने गैर बीजेपी दलों को साथ आने को कहा है. वहीं, कांग्रेस (Congress) ने ये भी आरोप लगाया है कि हरियाणा में जीत की ओर बढ़ रहे निर्दलीय उम्मीदवारों पर बीजेपी प्रशासन के जरिए दबाव बना रही है. निर्दलीय उम्मीदवारों को मुख्यालय तक बुलाने के लिए हेलीकॉप्टर तक भेजने की बात सामने आ रही है.

Maharashtra Assembly Election 2019: चुनावी नतीजों पर बोले शरद पवार, शिवसेना के साथ गठबंधन संभव ही नहीं

ये आरोप हरियाणा में कांग्रेस को यहां तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले दीपेंद्र सिंह हुड्डा (Deepender Singh Hooda) ने लगाया है. कांग्रेस नेता ने कहा मीडिया से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस को लगातार ख़बरें मिल रही हैं कि बीजेपी द्वारा निर्दलीयों पर दबाव बनाया जा रहा है. जबकि अधिकतर निर्दलीय कांग्रेस से जुड़ना चाहते हैं. औइर कांग्रेस की पृष्ठभूमि से हैं. दबाव बनाया जाना लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ है. निर्दलीय उम्मीदवारों को फैसला लेने की पूरी छूट होनी चाहिए कि वह किसे समर्थन देना चाहते हैं. हुड्डा ने ये भी कहा कि वह ये बात मीडिया के माध्यम से चुनाव आयोग तक पहुंचा रहे हैं.

वहीं, दूसरी ओर बताया जा रहा है कि 10 सीटों पर आगे चल रही जननायक जनता पार्टी के मुखिया दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) को कांग्रेस ने डिप्टी सीएम पद ऑफर किया है. कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि सभी गैर बीजेपी दलों को साथ में आना चाहिए. हरियाणा की स्थिति पर नजर रखने एक लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने अपने कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं. हरियाणा ने किसी को भी बहुमत मिलते नहीं दिख रहा है, ऐसे में जोड़-तोड़ से ही सरकार बनेगी.

बता दें कि हरियाणा के सभी नब्बे सीटों के शुरुआती रुझान आ चुके हैं. आज से पहले यह माना जा रहा था कि भाजपा की एकतरफा जीत होगी और कांग्रेस को करारी शिकस्त मिलेगी, लेकिन नतीजे कुछ और ही कह रहे हैं. मंत्री कैप्टन अभिमन्यु सहित सरकार के सात मंत्री अपनी सीट से पीछे चल रहे हैं. बीजेपी ने 75 सीटें हासिल करने का अभियान चलते हुए नारा दिया था, लेकिन अब तक आए रुझानों में पार्टी बहुमत से बीजेपी रहते हुए 38 सीटों पर सिमटते दिख रही है. कांग्रेस को 31 सीटें मिलते दिख रही हैं. जबकि जेजेपी 10, आईएनएलडी व अन्य के खाते में 12 सीटें जाते दिख रही हैं.

हरियाणा बीजेपी में हलचल: प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने दिया इस्तीफा, दिल्ली बुलाए गए सीएम खट्टर

हरियाणा में तमाम दावे फेल होने के बाद बीजेपी में हलचल मच गई है. पार्टी आलाकमान ने सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) को दिल्ली आपात बैठक के लिए बुला लिया है. जबकि हरियाणा में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला (Subhash Barala Resign) ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने उम्मीद के मुताबिक़ नतीजे नहीं आने पर पद छोड़ दिया है. सूत्रों के मुताबिक़ उन्होंने अमित शाह को इस्तीफा दिया है. सुभाष बराला टोहना विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं, लेकिन वह खुद ही जेजेपी के उम्मीदवार देवेंद्र सिंह से पीछे चल रहे हैं.