चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य में काम करने वाले प्रवासी कामगारों से शनिवार को अपील की कि वे घर ना लौटें और केन्द्र सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरुप लॉकडाउन में कामकाज शुरू कर रही औद्योगिक इकाइयों में काम करें. लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि यदि कोई घर लौटना चाहता है तो राज्य सरकार उसका पूरा इंतजाम करेगी. Also Read - कोरोना संकट में हरियाणा सरकार का छात्रों को तोहफा, शिक्षा ऋण पर मिली ये राहत

टीवी पर प्रसारित संबोधन में खट्टर ने हरियाणा के लोगों से कहा कि केन्द्र सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरुप उद्योगों को लॉकडाउन में अपना काम शुरू करने की छूट दी गई है. Also Read - Coronavirus In Haryana Update: कोविड-19 के 25 नए मामले, संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 818, जिलेवार लिस्ट

उन्होंने कहा, ‘‘आप संभवत: साल-दो साल से अपने घर नहीं गए हों, आपको घर की बहुत याद आ रही हो या फिर परिवार आप पर वापस लौटने का दबाव बना रहा हो. इस संकट काल में, हम आपके ऊपर कोई मुसीबत नहीं आने देंगे और सुनिश्चित करेंगे कि जब आप काम शुरू कर रही इकाइयों में नौकरी करने लगें तो आपका रोजगार सुरक्षित रहे.’’ Also Read - Manohar Lal Khattar Birthday: सब्जी बेचने से हरियाणा के मुख्यमंत्री तक, ऐसा रहा है मनोहर लाल खट्टर का संघर्ष

उन्होंने कहा, ‘‘पर्यटकों और तीर्थ यात्रियों सहित कोई भी व्यक्ति जो राज्य में आया था और यहां फंस गया, अब वापस जाना चाहता है, हम इन लोगों की जानकारी जुटाएंगे और जरुरी इंतजाम करेंगे. हम दूसरे राज्यों में भी फंसे हरियाणा के लोगों को भी सुरक्षित वापस लाएंगे.’’

हरियाणा सरकार ने एक वेबपेज भी लांच किया है. घर लौटने के इच्छुक प्रवासी कामगार इसपर पंजीकरण करा सकते हैं. सरकारी बयान के अनुसार, यह वेब पेज है https://edisha.gov.in/eForms/MigrantService