भिवानी: हरियाणा में पति की मौत के बाद देवर से शादी और एक बच्ची होने का दावा करने वाली महिला और इससे इनकार करने वाले व्यक्ति के ‘सच’ को डीएनए टेस्ट सामने लाएगा. महिला और देवर अपने-अपने दावे पर अड़े हुए हैं. महिला की गुहार के बाद गुरुवार को गांव लोहानी पहुंची राज्य महिला आयोग की सदस्य इंदू यादव ने जांच के बाद अफसरों को इस संबंध में आदेश दिए.Also Read - हरियाणा सरकार ने अन्य राज्यों से धान खरीद पर लगाई रोक, यूपी के किसानों में फूटा गुस्सा

आयोग की सदस्य यादव ने गांव लोहानी के पंचायत घर में दोनों पक्षों से बात की. यादव के मुताबिक इस दौरान महिला बनीता और उसका देवर राजपाल अपने-अपने दावे पर कायम रहे. इसके बाद उन्होंने बनीता की बेटी और राजपाल का डीएनए टेस्ट कराने का आदेश अफसरों को दिया. Also Read - हरियाणा के बहादुरगढ़ में तेज रफ्तार कार ने दूसरी कार को मारी टक्कर, 8 लोगों की मौत

इससे पहले इंदू यादव के नेतृत्व में बुधवार शाम भी एक टीम जांच के लिए भिवानी पहुंची. यहां पुलिस अधीक्षक दफ्तर में स्थित बैठक कक्ष में यादव और डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने सुनवाई करते हुए दोनों पक्षों के बयान दर्ज किए. Also Read - NRI के अकाउंट से बड़ी रकम उड़ाने की कोशिश, HDFC के तीन बैंककर्मियों समेत 12 लोग अरेस्‍ट

यादव के अनुसार गांव नांधा निवासी बनीता ने बताया कि उसकी शादी 2001 में गांव लोहानी निवासी अशोक से हुई थी. उसे एक बेटा हुआ. इसके बाद अशोक की मौत हो गई.

बनीता ने अपने बयान में कहा कि इसके बाद उसकी शादी अशोक के छोटे भाई राजपाल से हुई. उसे राजपाल से बेटी भी हुई. बनीता ने कहा कि 2015 में राजपाल ने नेपाल जाकर एक युवती से शादी कर दी और उन्हें खर्चा देना बंद कर दिया. बनीता ने दावा किया कि राजपाल जब भी गांव आता तो उनके साथ मारपीट करता.

बनीता ने कहा कि काफी दिनों तक सहन करने के बाद उसने न्याय के लिए आयोग में गुहार लगाई. उधर, राजपाल ने अपने बयान में बनीता से शादी से इनकार कर दिया था. इसके बाद आयोग ने बनीता की बेटी व राजपाल के डीएनए टेस्ट के आदेश अफसरों को दिए.