चंडीगढ़/नई दिल्ली: कालका-हावड़ा ट्रेन के एक डिब्बे में मंगलवार को आग लग गई. रेलवे पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना में कोई झुलसा नहीं है. हालांकि आग के कारण सांस लेने में दिक्कत की शिकायत के बाद छह यात्रियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

 

अधिकारी ने बताया कि कुरूक्षेत्र के निकट धीरपुर से धोडा खेड़ी रेलवे स्टेशन के बीच आज तड़के सीटिंग कम लगेज कोच में आग लग गई. अधिकारी ने बताया कि इंजिन के निकट की एसएलआर बोगी (सीटिंग कम लगेज रेक) में धुआं भर गया. धुआं नजर आने पर ट्रेन को रोक दिया गया और सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया. उन्होंने बताया कि बाद में बोगी में आग लग गई और दमकल की गाड़ियों को बुलाया गया. तीन महिलाओं और दो बच्चों को धुएं के कारण सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, उन्हें चिकित्सीय सहायता मुहैया कराई गई.

दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल के घर पहुंचा शख्‍स, तलाशी में कारतूस मिलने पर हड़कंप

आग लगने की वजह इलेक्ट्रिकल शॉर्ट सर्किट
शुरुआती जानकारी के मुताबिक आग लगने की वजह इलेक्ट्रिकल शॉर्ट सर्किट हो सकती है. हालांकि, ठीक-ठीक कारण का पता लगाने के लिए फॉरेंसिक विशेषज्ञों को बुलाया गया है. ट्रेन हरियाणा के कालका से अल-सुबह चली थी और इसे हावड़ा जाना था. इस मार्ग पर यातायात करीब एक घंटे तक प्रभावित हुआ. एसएलआर कोच के यात्रियों को दूसरे कोचों में स्थानांतरित किया गया जिसके बाद ट्रेन बिना एसएलआर कोच के गंतव्य के लिए रवाना हुई.