चंडीगढ़: लगातार दूसरी बार मनोहर लाल खट्टर ने हरियाणा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. रविवार दोपहर करीब ढाई बजे राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने उन्हें पद की शपथ दिलाई. इसके अलावा बीजेपी के साथ गठबंधन करने वाली जेजेपी पार्टी के दुष्यंत चौटाला ने उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली.

गौरतलब है कि इससे पहले भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद खट्टर ने जजपा और सात निर्दलीय विधायकों के समर्थन के साथ प्रदेश में सरकार गठन का दावा पेश किया था. खट्टर ने कहा था कि 57 विधायकों, जिनमें भाजपा के 40, जजपा के 10 और सात निर्दलीय विधायक शामिल हैं, के समर्थन के साथ सरकार गठन के लिये राज्यपाल के समक्ष दावा पेश किया. हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के लिये 46 सीटें होना जरूरी है.

हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने दीवाली के दिन राज भवन में आयोजित समारोह में दोनों को पद की शपथ दिलाई. भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनोरे, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, केन्द्रीय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, आरएल कटारिया, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल भी समारोह में मौजूद थे.

जजपा नेता दुष्यंत चौटाला के पिता अजय चौटाला भी समारोह में थे. अजय चौटाला हरियाणा में शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में तिहाड़ जेल में बंद थे, उन्हें शनिवार को ही फर्लो मिला है. दुष्यंत की मां नैना चौटाला भी वहां मौजूद थीं. भारतीय जनता पार्टी हरियाणा में बहुमत हासिल करने से छह सीट पीछे रह गई थी जिसके बाद उसने जजपा के साथ गठबंधन किया .