चंडीगढ़: हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद की जल्द सुनवाई करने की मांग को नकार देने के लिए मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि न्यायालय मुंबई आतंकी हमले के दोषी याकूब मेमन की फांसी को टालने के अनुरोध पर देर रात भी सुनवाई कर सकता है, लेकिन इस मामले में तारीख आगे बढ़ती जा रही है.

विज ने ट्वीट कर इस वाक्य को दो बार लिखा, ‘‘सुप्रीम कोर्ट महान है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘सुप्रीम कोर्ट महान है. चाहे तो 29 जुलाई 2014 को 1993 मुंबई बम धमाकों के दोषी याकूब मेनन की फांसी की सजा टालने के लिए कोर्ट का दरवाजा रात को खोल दे और चाहे तो राम मंदिर जिसके लिए करोड़ों भारतवासी टकटकी लगाए इंतजार कर रहे हों, उसको तारीख दे दे-सुप्रीम कोर्ट महान है.’’

मीटू में फंसे पंजाब के मंत्री ने कहा, दलित होने के चलते मुझे निशाना बनाया जा रहा है

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने 30 जुलाई 2015 को याकूब मेमन मामले की सुनवाई देर रात में की थी. अंबाला में मीडिया से बात करते हुए भी विज ने इसी प्रकार की टिप्पणी की. उन्होंने कहा, ‘‘यह याकूब मेमन मामले की सुनवाई के लिए मध्य रात्रि तक जागा रह सकता है तथा यह राम जन्मभूमि मालिकाना हक मामले की सुनवाई को तीन माह के लिए टाल सकता है जबकि करोड़ों लोग इसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि देश के हर हिस्से के लोग चाहते हैं कि केन्द्र सरकार एक अध्यादेश लाये ताकि अयोध्या में यथाशीघ्र राम मंदिर का निर्माण हो सके.

पहले कार्यक्रम में भाई शिवपाल को दिए ‘टिप्स’, फिर बेटे अखिलेश के पास सपा दफ्तर पहुंच गए मुलायम

विज अपने विवादास्पद बयानों को लेकर जाने जाते हैं. इससे पूर्व उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तुलना घातक निपाह वायरस से की थी. उन्होंने लोगों को चेतावनी भी दी थी कि जो लोग गौमांस के बिना नहीं रह सकते, वे हरियाणा में प्रवेश ना करें.