हरियाणा शिक्षा बोर्ड ने सोमवार को 10वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित किया था, लेकिन उसमे एक बड़ी गलती हो गई है. परीक्षा परिणाम बनाने वाले कर्मचारियों ने टॉपर्स की गलत मेरिट लिस्ट जारी कर दी. मेरिट सूची में गड़बड़ी के खुलासे के बाद बोर्ड आनन-फानन में रिजल्ट वापस लेना पड़ा. बोर्ड ने पहले घोषित हुए परीक्षाफल में पांचवें नंबर के परीक्षार्थी को टॉपर घोषित कर दिया.

परीक्षा परिणाम घोषित होने और वेबसाइट पर अपलोड होने के करीब डेढ़ घंटे बाद मेरिट में गड़बड़ी का पता चला. बोर्ड का कहना है ऐसा तकनीकी खामी के चलते हुआ. इसके चलते 2 कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है.

बता दें कि इस बार 10वीं में कुल 3,88,205 स्टूडेंट्स ने भाग लिया था, जिसमें 1,43,676 लड़कियां और 1,75,166 लड़के शामिल हैं. परीक्षा में 50.49 परीक्षार्थी पास हुए.परीक्षा में इस बार भी लड़कियां ही आगे रही और 55.30 फीसदी लड़कियां इस साल पास हुई. वहीं 46.52 फीसदी लड़के परीक्षा में पास हुए.

विद्यार्थियों से माफी मांगता हूं: चेयरमैन
बोर्ड के चेयरमैन डॉक्टर जगबीर सिंह ने बताया कि कंप्यूटर की गलती के कारण टॉपरों की गलत सूची जारी हो गई है. कंप्यूटर ने कुछ विद्यार्थियों के 100 में से 100 अंक आए थे, उन्हें कुल अंकों में जोड़ करते समय उठाया नहीं गया है. इसकी वजह से यह चूक हुई है.

10वीं में ये बने टॉपर
1. युद्धवीर (499), वी.एन. व.मा.वि. रानियां, सिरसा
2. सुमीत (496), सरस्वती व.मा.वि. दनौदा कलां, जींद
3. सोनम (495), ज्ञान सरोवर विद्या मंदिर उ.वि. जींद
4. राकेश कुमार (495), स्वामी विवेकानंद व.मा.वि. पलवल