नई दिल्ली: दिल्ली हाई कोर्ट ने फेसबुक, गूगल और यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया वेबसाइटों को एक आदेश पारित किया है. इस आदेश के तहत इन सभी को उस वीडियो ब्लॉग को हटाने के लिए कहा है जिसमें पतंजलि आयुर्वेद के आटाब्रांड की कथित तौर पर बुराई की गई है. जस्टिस राजीव सहाय एंडलॉ ने अंतरिम आदेश में तीनों वेबसाइटों को उस वीडियो ब्लॉग से जुड़े लिंक्स एवं कॉन्टेंट को हटाने का निर्देश दिया है. कोर्ट ने नोटिस जारी कर यह भी पूछा है कि ब्लॉग तथा उसका यूआरएल जिस व्यक्ति के नाम पर दर्ज है उसकी पहचान का खुलासा किया जाए. Also Read - दिल्ली में लॉकडाउन ही एकमात्र विकल्प? हाईकोर्ट ने कोरोना के रोकथाम पर पूछा सवाल

हाई कोर्ट ने मामले को 15 मई को अगली सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया है. यह निर्देश पतंजलि की याचिका की सुनवाई के बाद आया है. याचिका में मांग की गई थी कि तमिल भाषा में बनाए गए उस वीडियो को हटाया जाए जिसमें पतंजलि के आटा समेत आईटीसी के आटे को कथित तौर पर खराब बताया गया है. पतंजलि ने याचिका में कहा कि दोनों ब्रांड्स के आटे को वीडियो में रबर बताया गया है. Also Read - Lockdown In Delhi News Update: दिल्ली में तत्काल लॉकडाउन लगाने को लेकर हाईकोर्ट ने कही ये बात

पतंजलि के वकील राजीव नायर ने कोर्ट को बताया कि आईटीसी पहले ही बेंगलुरू की एक अदालत से इस मामले में स्थगन आदेश ले चुकी है. उन्होंने कहा कि उनके पतंजलि ने तीनों वेबसाइटों को सूचित किया था और वीडियो ब्लॉग एवं उसकी सामग्री हटाने को कहा था. उनके द्वारा ऐसा नहीं किए जाने पर याचिका दायर करने की जरूरत पड़ी. Also Read - Google ने खोला गहरा राज, सेल्फी में सुंदर दिखने के लिए क्या-क्या करती हैं भारतीय महिलाएं..