अहमदाबाद: गुजरात हाईकोर्ट ने मंगलवार को राज्य के भाजपा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडसामा के 2017 के निर्वाचन को कदाचार और हेरफेर के आधार पर खारिज कर दिया. विजय रूपाणी की सरकार में चूडसामा अभी शिक्षा, कानून एवं न्याय, विधायिका और संसदीय मामलों आदि विभागों के प्रभारी हैं. Also Read - भाजपा शासित राज्यों ने कोविड-19 के की लड़ाई में आत्मसमर्पण कर दिया है : कांग्रेस

बता दें कि 2017 गुजरात विधानसभा चुनाव में चूडसामा ने 327 वोट के मामूली अंतर से जीत हासिल की थी. Also Read - ब्रिटेन में पीएम के मुख्‍य सलाहकार ने किया था लॉकडाउन का उल्लंघन, उप मंत्री ने दिया इस्तीफा

न्यायमूर्ति परेश उपाध्याय ने कांग्रेस नेता की याचिका पर सुनवाई करते हुए चूडासामा के चुनाव को खारिज कर दिया. कांग्रेस उम्मीदवार अश्विन राठौड़ ने धोलका विधानसभा सीट पर बीजेपी नेता की जीत को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी. 2017 गुजरात विधानसभा चुनाव में चूडसामा ने 327 वोट के मामूली अंतर से जीत हासिल की थी. Also Read - गुजरात: सूरत में केमिलकल फैक्‍ट्री में लगी भयंकर आग, 12 फायर टेंडर्स आग बुझाने में जुटीं


चुनाव याचिका में राठौड़ ने आरोप लगाया था कि चूडसामा ने ”चुनाव की प्रक्रिया के विभिन्न चरणों में, विशेष रूप से वोटों की गिनती के समय भ्रष्ट आचरण अपनाया और नियमों का उल्लंघन किया.”

राज्य में विजय रूपाणी की सरकार में चूडसामा अभी शिक्षा, कानून एवं न्याय, विधायिका और संसदीय मामलों आदि विभागों के प्रभारी हैं.