रामेश्वरम. देश के पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था. उन्होंने यहीं के एक स्कूल से प्राथमिक शिक्षा पाई थी. कलाम की प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा, पढ़ाई के प्रति उनके शिक्षक के अनुशासन संबंधी नियमों के बारे में आपको मालूम ही होगा. लेकिन रामेश्वरम के ही एक निजी स्कूल में हेडमास्टर ने एक छात्र के साथ जो किया, उसने इस इलाके को अचानक से चर्चा में ला दिया है. उस छात्र की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने भगवान अयप्पा के दर्शन के लिए सबरीमला जाने का व्रत रखा था, और इसी कारण स्कूल में चप्पल पहनकर नहीं आया. छात्र की इस छोटी सी गलती पर रामेश्वरम के पास के एक निजी स्कूल के हेडमास्टर ने उसकी कथित तौर पर पिटाई कर दी.

‘मिसाइल-मैन’ के जीवन को गढ़ने वाले लोग, ताउम्र जिनके प्रशंसक रहे डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम

नौवीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र के माता-पिता ने इस घटना को लेकर शिक्षा विभाग में हेडमास्टर की शिकायत की है. छात्र के माता-पिता के अनुसार, वह सबरीमला स्थित अयप्पा मंदिर की तीर्थयात्रा पर जाने वाला था. इसके लिए वह व्रत कर रहा था. यही वजह थी कि वह चप्पल पहन कर स्कूल नहीं गया था. हेडमास्टर द्वारा छात्र को पीटे जाने की घटना के बाद कुछ हिन्दू संगठनों ने प्रदर्शन किया.

पुलिस के मुताबिक छात्र के माता पिता ने स्कूल के हेडमास्टर पर चप्पल पहन कर स्कूल नहीं आने के पीछे की भावनाओं को नहीं समझने का आरोप लगाया है. वहीं, हेडमास्टर ने कहा कि स्कूल के नियम छात्रों को बगैर चप्पल पहने विद्यालय में प्रवेश करने की इजाजत नहीं देते हैं. वह सिर्फ नियमों का पालन कर रहे थे. शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने कहा कि वे मामले की जांच कर रहे हैं.

(इनपुट – एजेंसी)