भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि आज यानी गुरुवार को उत्तर भारत के कई इलाकों में लू के प्रकोप से राहत मिल सकती है. ऐसा अधिकतम तापमान में कमी की संभावना के कारण होगा. उत्तर और मध्य भारत में पिछले कई दिनों से लू का प्रकोप जारी है और साथ ही कई जगहों पर तापमान 47 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया जा रहा है. Also Read - गुजरात में बाढ़ के संकट के बीच कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, नदी में बहते दिखे जानवर

विभाग ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ से 28 से 30 मई तक कुछ राहत मिलने की उम्मीद है. इस दौरान, उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में धूल भरी आंधी और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना भी है. Also Read - दिल्‍ली में लगातार तीसरे दिन भी सुबह-सुबह हुई बारिश, तय समय से पहले आ रहा मानसून

इस बीच बुधवार को उत्तर और पश्चिम भारत के कई हिस्सों में झुलसा देने वाली गर्मी जारी रही. राजस्थान में तापमान 50 डिग्री के करीब पहुंच गया. राष्ट्रीय राजधानी के अधिकांश क्षेत्रों में पारा सामान्य से छह डिग्री अधिक रहा. 47.2 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान के साथ पालम सबसे गर्म रहा. Also Read - दिल्‍ली में सुबह हुई बारिश, देश के कई राज्‍यों में होगी तेज बारिश, 4-5 दिनों तक ऐसा रहेगा मौसम

भारत मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार, बड़े क्षेत्रों में, जब लगातार दो दिनों तक अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस रहता है, तो चलने वाली गर्म हवाओं को लू घोषित कर दिया जाता है और राष्ट्रीय राजधानी की तरह छोटे क्षेत्रों में, एक दिन तक भी तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुच जाता है, तो लू की घोषणा कर दी जाती है.

दिल्ली में सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 45.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. आईएमडी ने कहा कि लोधी रोड और आयानगर के मौसम केंद्रों में अधिकतम तापमान क्रमशः 45.1 डिग्री सेल्सियस और 46.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

राजस्थान के ज्यादातर इलाके लू यानी गर्म हवाओं की चपेट में हैं जहां बुधवार को चुरू में अधिकतम तापमान 49.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग का कहना है कि राज्य में गर्मी का यह दौर अगले 24 घंटे जारी रहेगा हालांकि शुक्रवार को इसमें कुछ राहत मिल सकती है.

विभाग के अनुसार चुरू शहर में दिन का तापमान सबसे अधिक 49.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. यहां मंगलवार को पारा 50.0 डिग्री सेल्सियस था.

राज्य के बाकी हिस्सों में भी भीषण गर्मी पड़ रही है. बीकानेर में अधिकतम तापमान 48.0 डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर में 48.9 डिग्री, कोटा में 47.2 डिग्री, जैसलमेर में 46.1 डिग्री, बाड़मेर 45.9 डिग्री, जयपुर में 44.8 डिग्री, अजमेर में 44.0 डिग्री व जोधपुर में 42.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

आखिर क्यों पड़ रही इतनी गर्मी (Present heatwave in North India is unusual)

मौसम विभाग के अनुसार अगले चौबीस घंटों में भी राज्य के जोधपुर, बीकानेर, जयपुर, अजमेर, भरतपुर व कोटा संभाग के कुछेक स्थानों पर तीव्र लू (हीट वेव) तथा काफी स्थानों पर लू चलने के आसार हैं. इन इलाकों में दिन का अधिकतम तापमान 45-47 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है.

पड़ोसी राज्य हरियाणा और पंजाब में भी लू का कहर जारी रहा. इन दोनों राज्यों में सबसे अधिक तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस नारनौल में दर्ज किया गया. मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि नारनौल में अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक दर्ज किया गया.

वहीं, हरियाणा के हिसार में अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 46.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. जबकि अंबाला में अधिकतम तापमान 43.8 डिग्री सेल्सियस, करनाल में 42.8 डिग्री सेल्सियस रहा.

पंजाब के पटियाला में भी गर्मी का कहर जारी रहा. यहां अधिकतम तामपान 44.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अमृतसर और लुधियाना में तापमान क्रमश: 43.5 और 44.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 42.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विज्ञान विभाग ने 28 और 31 मई को कुछ स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़ने और 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलने की संभावना जतायी है. जबकि 29 ओर 30 मई को दोनों राज्यों में बिजली कड़कने और 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है.

मौसम विभाग ने कहा कि जम्मू में मौसम का सबसे गर्म दिन दर्ज किया गया, जहां तापमान 42.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो मौसम के औसत से 3.5 डिग्री अधिक है, जबकि शहर में न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 1.5 डिग्री अधिक है.

श्रीनगर में अधिकतम तापमान 30.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4.2 डिग्री अधिक है. यह मंगलवार के अधिकतम तापमान 31.7 डिग्री सेल्सियस की तुलना में थोड़ा कम है.

रियासी जिले में कटरा का अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 23.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में हल्की बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान जताया. लेकिन बाद के दो दिनों में वर्षा में वृद्धि होगी.

आईएमडी ने कहा कि उत्तर और मध्य भारत के कई हिस्सों में चल रही गर्म हवाएं गुरुवार को भी जारी रह सकती है.

उसने कहा कि कुछ राहत की उम्मीद सप्ताह के अंत में ही की जा सकती है.

उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर-पश्चिम भारत, मध्य भारत के मैदानी इलाकों और सटे हुए पूर्वी भारत के कुछ भागों में शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाओं के कारण, वर्तमान लू की स्थिति अगले 24 घंटों के दौरान जारी रहने की आशंका है.’’

(इनपुट भाषा)