तिरूवनंतपुरम /कोच्चि: पिछले एक हफ्ते केरल में भारी बारिश से कोई राहत नहीं मिल रही है. बुधवार को कोच्चि एयरपोर्ट पर उड़ानों का संचालन शनिवार तक के लिए बंद कर दिया गया है. बता दें कि केरल में आठ अगस्त से मूसलाधार बारिश होने के कारण इस एयरपोर्ट पर आने वाले विमानों को अन्य हवाई अड्डों की ओर मोड़ दिया गया है. भारी बारिश के कारण राज्य में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 44 हो गई है. कोच्चि एयरपोर्ट के एक प्रवक्ता ने बताया कि बढ़ते हुए जलस्तर को देखते हुये शनिवार दोपहर 2:00 बजे तक अस्थायी रूप से, कोच्चि एयरपोर्ट पर विमानों का परिचालन बंद कर दिया गया है.Also Read - चाइनीज पोटैटो पैकेट खरीदकर यात्री ने बैग में रखा था, कोच्‍ची एयरपोर्ट पर हुई जांच तो निकला खतरनाक सांप

प्रवक्ता ने बताया, ”हम बाढ़ का पानी निकालने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. सभी से सहयोग करने का अनुरोध करते हैं.”

मॉनसून में हुई बारिश से देशभर में अबतक 774 लोगों की मौत

कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (सीआईएल) ने एहतियाती उपाय के तहत पहले बुधवार सुबह 4:00 बजे से 7:00 बजे तक हवाईअड्डे पर विमानों का ऑपरेशन बंद करने का निर्णय लिया था, लेकिन बाद में दोपहर 2:00 तक एयरपोर्ट बंद रखने का निर्णय भी लिया गया था.

बुधवार को 16 राज्‍यों में हो सकती है भारी बारिश, पांच राज्‍यों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी

अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मंगलवार शाम एक होटल पर मिट्टी का एक टीला गिर जाने के कारण मुन्नार में पड़ोसी राज्य तमिलनाडु के रहने वाले एक व्यक्ति की मौत हो गई और 6 अन्य को बचा लिया गया. एक अन्य घटना में त्रिशूर में एक तार की चपेट में आने से एक मछुआरे की मौत हो गई.

केंद्रीय गृह मंत्री बोले- केरल में बहुत गंभीर स्थिति, बाढ़ प्रभावित राज्य के लिए Rs.100 करोड़ की तत्काल राहत राशि

जिला प्रशासन ने बताया कि इसी तरह कोनडोट्टी में मंगलवार देर रात एक बजे एक घर पर मिट्टी का बड़ा ढेर गिर जाने के कारण एक दंपत्ति की जान चली गई. पीड़ित दंपत्ति के साथ उसी कमरे में सोये छह वर्षीय उनके बच्चे की तलाश की जा रही है.

केरल चर्च यौन शोषण केस में दो और पादरियों ने किया सरेंडर

( इनपुट-एजेंसी)