पुणे: पुणे जिले में बाढ़ और बारिश से संबंधित घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 21 हो गई है, और 5 व्यक्तियों के के लापता होने की खबर है. शुक्रवार को पुलिस ने इस बात की जानकारी दी. बुधवार और गुरुवार को पुणे शहर और जिले में भारी बारिश हुई थी जिससे नालों, नदियों में अचानक बाढ़ आ गई. मूसलाधार बारिश के कारण दीवार गिरने की कई घटनाएं हुई. पुणे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शहर में बारिश या बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में 15 लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लापता हैं. पुणे ग्रामीण पुलिस ने कहा कि जिले में छह लोगों की मौत हो गई, जबकि एक व्यक्ति लापता है.

हैदराबाद में भारी बारिश के बाद हुसैन सागर नहर की दीवार ढहने से 200 घर डूबे

वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में पिछले तीन दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते शुक्रवार को दो अलग-अलग घटनाओं में दो दर्जन से भी अधिक लोग मारे गए. घर गिरने और पेड़ टूटने के चलते यह मौतें हुई हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक आपात बैठक कर सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे 24 घंटे के भीतर बारिश से संबंधित घटनाओं में मारे गए लोगों को चार-चार लाख रुपए का मुआवजा प्रदान करें. उन्होंने अधिकारियों को सतर्क रहने और आवश्यक राहत प्रदान करने के लिए प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने का भी निर्देश दिया है.

भारी बारिश के चलते शुक्रवार को लखनऊ, अयोध्या और अमेठी में सभी स्कूल बंद रहे. भारी बारिश के कारण सड़कों पर पानी भरने के चलते सार्वजनिक परिवाहनों पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा. राज्य की राजधानी के कई इलाकों और क्षेत्रों में टेलीकॉम और बिजली की सेवाएं प्रभावित रहीं. मौसम विभाग ने कहा कि रविवार तक इसी प्रकार से लगातार बारिश होने की संभावनाएं हैं.