हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई है और 10 लोग लापता हैं. आपदा प्रबंधन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी.Also Read - हिमाचल में फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरा, चपेट में आई दो गाड़ियां | Watch Video

राज्य आपदा प्रबंधन निदेशक सुदेश कुमार मोख्ता ने बताया कि लाहौल-स्पीति में बादल फटने से अचानक आई बाढ़ में एक व्यक्ति की मौत हो गई और नौ लोग लापता हो गए, जबकि चम्बा जिले से एक अन्य व्यक्ति के लापता होने की सूचना मिली है. Also Read - Cloud Burst In Himachal Pradesh: हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में फटा बादल, बाढ़ ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें | Watch Video

उन्होंने बताया कि मंगलवार रात करीब आठ बजे लाहौल के उदयपुर में बादल फटा. उन्होंने बताया कि मजदूरों के दो तम्बू और एक निजी जेसीबी पानी में बह गई तथा जम्मू-कश्मीर निवासी 19 वर्षीय श्रमिक मोहम्मद अल्ताफ घायल हो गया. अल्ताफ को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया है. Also Read - Himachal Pradesh Cloud Burst: कुल्लू में बादल फटने से मची तबाही, टूटा पुल-बह गए कई लोग

अधिकारी ने बताया कि राज्य पुलिस और भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के दलों को लापता लोगों की तलाश के लिए भेजा गया, लेकिन पानी के तेज बहाव ने मंगलवार रात तलाश अभियान को बाधित किया.

उन्होंने बताया कि तलाश अभियान बुधवार सुबह फिर से शुरू किया गया. उन्होंने बताया कि चम्बा में भारी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ में चम्बा-पठानकोट मार्ग पर चाणेड तहसील में एक जेसीबी हेल्पर बह गया. पुलिस और दमकल के दल तलाश अभियान चला रहे हैं.

मोख्ता ने बताया कि लाहौल-स्पीति के विभिन्न हिस्सों में कई स्थानों पर भूस्खलन और अचानक बाढ़ आने के कारण कई सड़कें अवरुद्ध हो गई हैं और लगभग 60 वाहन फंस गए हैं. लाहौल में राज्य राजमार्ग संख्या 26 (एसकेटीटी) पर किर्तिंग गांव के पास भूस्खलन के कारण सड़क बाधित हो गई है. इसकी मरम्मत के लिए एक जेसीबी भेजी गई है.

इस बीच, राज्य के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश जारी है और शिमला मौसम विज्ञान केंद्र ने रेड अलर्ट जारी किया है. मोख्ता ने बताया कि इससे पहले मंगलवार को भारी बारिश के कारण भागा नदी में जलस्तर बढ़ने के बाद लाहौल-स्पीति के दारचा गांव से कई लोगों को बाहर निकाला गया था.

दारचा पुलिस जांच चौकी के मुताबिक, भारी बारिश से नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया, जिसके कारण नदी किनारे की तीन दुकानें क्षतिग्रस्त हो गईं. अधिकारी ने बताया कि निचले इलाकों के आसपास रहने वाले लोगों को पुलिस ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया है.