Bihar Rain: कई राज्यों में कहर के बाद अब बारिश बिहार में भी कहर बरपाने की ओर बढ़ रही है. लगातार हो रही बारिश के कारण बिहार के कई इलाकों-शहरों में पानी ही पानी दिखाई दे रहा है. सड़कों पर घुटनों तक पानी है. घरों में पानी घुस गया है. वहीं, बिहार के नालंदा मेडिकल कॉलेज में पानी घुस गया है. वॉर्ड में पानी होने के कारण मरीज और उनके परिजन मुश्किल में हैं. पटना शहर में भी लगातार बारिश हो रही है, इससे सड़कों पर जलभराव है. बारिश के चलते बिहार के बंद होने जैसी स्थिति है. बाजार बंद हैं. कई दफ्तरों की भी छुट्टियां कर दी गई हैं. मौसम विभाग ने आने वाले एक-दो दिनों में राज्य के कई जिलों में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है.

वहीं, बिहार के अधिकांश क्षेत्रों में गुरुवार की रात से लगातार हो रही बारिश तथा कुछ क्षेत्रों में गंगा के उफान के कारण ट्रेनों की रफ्तार धीमी पड़ गई है. समस्तीपुर-दरभंगा रेलमार्ग पर किशनपुर-रामभद्रपुर के मध्य जमीन धंसने के कारण ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया गया है, जबकि अन्य मागरें पर भी परेशानी आने से ट्रेनों के परिचालन बाधित हुआ है. बिहार सरकार के जलसंसाधन विभाग के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि गंगा, कमला बलान, बागमती नदियां कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. इस बीच बारिश ने स्थिति और बिगाड़ दी है. उन्होंने कहा कि गंगा नदी पटना के विभिन्न क्षेत्रों सहित मुंगेर और भागलपुर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, जबकि बागमती नदी सीतामढ़ी के ढेंग और डूबाधार में तथा मुजफ्फरपुर के बेनीबाद में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. कमला बलान भी उफान पर है. कमला बलान खगड़िया और मधुबनी में खतरे के लाल निशान के ऊपर बह रही है.

इधर, जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि सभी स्थिति पर नजर रखी जा रही है. उन्होंने कहा कि नेपाल के तराई क्षेत्रों में बारिश पर नजर रखी जा रही है. नेपाल के बारिश का पानी बिहार में प्रवेश करने के बाद कई और नदियों में उफान आने की आशंका है. इस बीच, आपदा प्रबंधन विभाग बाढ़ प्रभवित इलाकों में राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई है. विभाग के अधिकारी का दावा है कि राहत और बचाव कार्य में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को लगाया गया है. इस बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों के जिलाधिकारी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करेंगे.

इधर, बारिश और बाढ़ के कारण ट्रेनों की रफ्तार धीमी हुई है. पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि समस्तीपुर-दरभंगा रेल लाइन पर किशनपुर-रामभद्रपुर के मध्य पुल नंबर 12 के पास की जमीन धंसने के कारण इस रेल मार्ग पर चलने वाली ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है, जबकि सोनपुर मंडल के कर्पूरीग्राम स्टेशन पर भारी बारिश के कारण ट्रैक पर पानी जमा हो जाने के कारण आधी रात से डाउनलाइन के होम सिगनल फेल हो गए हैं, जिससे कई ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. उन्होंने बताया कि पटना से खुलनेवाली कई ट्रेनों के परिचालन में आंशिक बदलाव किए गए हैं. बिहार के लगभग सभी क्षेत्रों मे हो रही बारिश के कारण तापमान में गिरावट जारी है.

पटना का शनिवार को न्यूनतम तापमान 26.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि आने वाले एक-दो दिनों तक राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बादल छाए रहेंगे तथा कई क्षेत्रों में भारी बारिश होने की संभावना है. इस दौरान तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी. पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक भागलपुर का शनिवार को न्यूनतम तापमान 23.2 डिग्री, गया का 22.0 डिग्री और पूर्णिया में 24.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

राजधानी पटना समेत मुजफ्फरपुर, दरभंगा, भागलपुर, पूर्णिया, बेतिया, गया, जमुई, औरंगाबाद, जहानाबाद समेत कई अन्य जिलों में भी लगातार बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने 15 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है. इस कारण राज्य सरकार ने राज्य के कई जिलों में ऐहतियातन अगले दो दिनों तक स्कूलों में छुट्टी घोषित की है. पटना का शनिवार को अधिकतम पारा 28.0 डिग्री सेल्सियस के करीब ही रहने के आसार हैं. पटना का शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 26.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. पिछले 24 घंटे के दौरान पटना में 98 मिलीमीटर, भागलपुर में 134 मिलीमीटर और गया में 73 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है.