मुंबईः मूसलाधार बारिश के कारण मुंबई में दीवार गिरने की घटना सहित महाराष्ट्र में हुई विभिन्न घटनाओं में 27 लोगों की मौत हुई है. इनमें से 18 लोगों की मौत भारी बारिश के कारण मुंबई के उत्तरी उपनगर मलाड में एक दीवार ढहने हो गई. हादसे में 50 से अधिक लोग घायल भी हुए हैं. अधिकारियों ने बताया कि सोमवार रात पुणे के अम्बेगांव इलाके में एक शैक्षणिक संस्थान की दीवार उसके पास बनी अस्थायी झोंपड़ियों पर गिरने से छह श्रमिकों की मौत हो गई. वहीं मंगलवार तड़के ठाणे जिले के कल्याण में एक दीवार गिरने तीन लोगों की जान चली गई.Also Read - Maharashtra Rains: महाराष्ट्र में बारिश का कहर, दो दिनों में 129 लोगों की मौत, कई लोग मलबे में दबे

खराब मौसम के चलते मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 54 विमानों के मार्ग बदले गए और 52 उड़ाने रद्द कर दी गई. हवाई अड्डे के एक प्रवक्ता ने बताया कि मूसलाधार बारिश के कारण जयपुर से आ रहा ‘स्पाइसजेट’ का एक विमान मुंबई हवाई अड्डे के मुख्य रनवे से फिसलते हुए उससे नीचे उतर गया. घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के अधिकारियों ने बताया कि देर रात करीब दो बजे हुई पूर्वी मलाड इलाके के पिम्परीपाड़ा स्थित एक परिसर की दीवार ढह गई और पास की झुग्गियों में रहने वाले लोग उसकी चपेट में आ गए. Also Read - भारी बारिश के कारण कोंकण रेल मार्ग पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित

Also Read - Maharashtra Rain: मुंबई में हो रही आफत की बारिश ने आज 25 की ले ली जान, देखें जलप्रलय की तस्वीरें

एनडीआरएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘घटना की जानकारी मिलने के बाद राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की हमारी टीम श्वान दस्ते के साथ तुरंत घटनास्थल पर पहुंची. इसके अलावा दमकल विभाग की एक टीम और स्थानीय पुलिस भी स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए मौके पर मौजूद है.’’ स्थानीय निकाय अधिकारी ने बताया कि घायलों को ‘जोगेश्वरी ट्रॉमा अस्पताल’ और कांदिवली के ‘शताब्दी अस्पताल’ में भर्ती कराया गया है. कल्याण में हुए हादसे में दुर्गाडी किले के पीछे एक उर्दू स्कूल की दीवार देर रात करीब एक बजे ढह गई, जिसमें तीन लोगों की जान चली गई. नौसैनिक अधिकारी ने बताया कि उपनगरीय कुर्ला में एनडीआरएफ, नौसेना और दमकल विभाग ने एक साझा अभियान में करीब 1,000 लोगों को वहां से सुरक्षित निकाल कर आश्रय स्थल पहुंचाया.

इस बीच, स्थानीय निकाय के एक अधिकारी ने कहा, ‘भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के बाद महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई और उसके लोगों की सुरक्षा के लिए एहतियाती तौर पर दो जुलाई को सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है.’ मध्य रेलवे ने पटरियों पर पानी भरने के कारण कुछ ही मार्गों पर ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है.

मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता सुनील उदासी ने कहा कि आरपीएफ जवानों की मदद से मध्य रेलवे ने आधीरात को चलने वाली ट्रेन (लोकल) में फंसे हजारों यात्रियों को निकाला और कई स्टेशनों पर चाय, बिस्कुट और अन्य खाद्य पदार्थ भी बांटे. मध्य रेलवे के अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के कारण मध्य एवं पश्चिमी रेलवे ने लंबी दूरी की 20 से अधिक ट्रेनें या तो रद्द कर दी हैं या फिर उन्हें मुंबई से बाहर स्टेशनों पर ही रोक दिया है.

बिजली कंपनियों ने भी एहतियात के तौर पर मुम्बई के कुछ उपनगरीय इलाकों में आपूर्ति को निलंबित कर दिया है. मूसलाधार बारिश के कारण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को भी विधायकों के लिए एक नए भवन के निर्माण की आधारशिला रखने के कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा. मुंबई विश्वविद्यालय की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं. साथ ही एमबीबीएस, बीडीएस और बीएएएफएस पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए छात्रों को अब पांच जुलाई तक का वक्त दे दिया गया है.