नई दिल्लीः कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को दोबारा सील (Delhi-Ghaziabad Border Seal again) कर दिया गया है. गाजियाबाद के डीएम ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर सील करने के निर्देश जारी किए. हालांकि, यह सील आवश्यक सेवाओं जैसे- डॉक्टर्स, पुलिसकर्मियों और बैंक कर्मचारियों पर लागू नहीं है, अचानक बॉर्डर सील होने से अब लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. लॉकडाउन 2.0 (Lockdown 2.0) जैसे नियम लागू होने से गाजीपुर (Ghazipur) बॉर्डर पर भारी ट्रैफिक जाम लग गया है. गाजीपुर में लंबा जाम लगने से अब दिल्ली-गाजियाबाद से आने-जाने वालों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.Also Read - दिल्‍ली में फिलहाल नहीं खुलेंगे स्‍कूल और कॉलेज, ऑनलाइन जारी रहेंगी कक्षाएं

डीएम के आदेश के मुताबिक, अब गाजियाबाद में ऐसे ही लोगों को एंट्री दी जाएगी, जिनके पास आने-जाने के लिए पास उपलब्ध होगा. लेकिन, ट्रैफिक में फंसे लोगों का कहना है कि पास होने के बाद भी उन्हें आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर में जाम में फंसी केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड की कर्मचारी पारुल भाटी ने कहा कि, ‘मैंने पास दिखाया, उसके बाद भी प्रशासन मुझे बॉर्डर क्रॉस करने की परमिशन नहीं दे रहा है.’ Also Read - Delhi में कोव‍िड प्रत‍िबंधों में छूट, मॉल, सिनेमा, रेस्‍टोरेंट्स 50 फीसदी की क्षमता से संचाल‍ित होंगे

Also Read - West Bengal में कोविड-19 RTPCR टेस्‍ट का रेट घटा, लगभग आधे रुपए देने होंगे

हालांकि, गाजियाबाद जिला प्रशासन द्वारा दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को सील (Delhi-Ghaziabad Border Seal) करने पर गाजियाबाद प्रशासन का कहना है कि, पुलिस लोगों के ‘पास’ और ‘पहचान पत्र’ की जांच करने के बाद मीडिया सहित आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वालों को आने-जाने दे रही है. ऐसे लोगों को ‘पास’ की आवश्यकता भी नहीं है, सिर्फ ‘पहचान पत्र’ पर्याप्त है. लेकिन, जरूरी सेवाओं से अलग जो भी लोग आना-जाना चाहते हैं, उन्हें अपना पास दिखाना जरूरी होगा.