नई दिल्ली. सीबीआई के नए निदेशक की नियुक्ति के लिए उच्चाधिकार प्राप्त चयन समिति की बैठक 24 जनवरी को होने की संभावना है. यह जानकारी बुधवार को सूत्रों ने दी. समिति के प्रमुख प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं और इसमें भारत के प्रधान न्यायाधीश और लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे सदस्य हैं. सूत्रों ने कहा कि सरकार ने पहले 21 जनवरी की बैठक प्रस्तावित की थी, जबकि खड़गे चाहते थे कि बैठक 24 या 25 जनवरी को हो. परस्पर विचार-विमर्श के बाद सीबीआई के नए निदेशक की नियुक्ति के लिए सरकार ने बैठक की तारीख 24 जनवरी तय की. आलोक वर्मा को इस पद से हटाए जाने और उन्हें अग्निशमन सेवाओं का महानिदेशक बनाए जाने के बाद से सीबीआई निदेशक का पद खाली है. पिछले करीब एक हफ्ते से देश की इस प्रमुख जांच एजेंसी के डायरेक्टर का पद खाली है. इस पर अभी अंतरिम प्रभारी की तैनाती की गई है.

आलोक वर्मा के हटने के बाद कौन होगा CBI का नया ‘बॉस’, ये 3 IPS अफसर हैं रेस में आगे

आईपीएस अधिकारी एम. नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया गया है. सीबीआई के निदेशक पद पर नियमित नियुक्ति नहीं करने के लिए कांग्रेस प्रधानमंत्री पर प्रहार करती रही है. कांग्रेस नेता खड़गे ने सीबीआई के नियमित निदेशक की नियुक्ति के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर जल्द से जल्द बैठक बुलाने की मांग की थी. आपको बता दें कि बीते 10 जनवरी को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली उच्च अधिकार प्राप्त समिति ने आलोक वर्मा को सीबीआई के डायरेक्टर पद से हटा दिया था. केंद्रीय सतर्कता आयुक्त की रिपोर्ट के आधार पर इस समिति ने आलोक वर्मा को उनके पद से हटाने का फैसला लिया था.

CBI निदेशक पद से हटाए गए आलोक वर्मा ने दिया इस्तीफा, DG फायर सर्विस का प्रभार लेने से इनकार

आलोक वर्मा को हटाने के बाद सीबीआई के डायरेक्टर पद के लिए मुख्य रूप से 3 आईपीएस अफसरों के नाम इस दौड़ में शामिल बताए जा रहे थे. सरकार ने इस पद के लिए योग्य व्यक्ति के चयन की जिम्मेदारी कार्मिक विभाग को सौंपी है. विभाग महानिदेशक स्तर के भारतीय पुलिस सेवा के 10 अफसरों में से अंतिम नामों में से संक्षिप्त सूची बनाने की कवायद में जुटा है. कार्मिक विभाग की इस संक्षिप्त सूची में वर्ष 1983, 1984 और 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी शामिल हैं. सीबीआई निदेशक पद की दौड़ में 1985 बैच के आईपीएस और मुंबई पुलिस आयुक्त सुबोध कुमार जायसवाल, उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के प्रमुख वाई.सी. मोदी का नाम सामने आए थे.

(इनपुट – एजेंसी)