जींद: जिले के रामगढ़ गांव के पास बस अड्डे पर रविवार सुबह तेज रफ्तार एक कार ने अलाव सेक रहे आठ लोगों को अपनी चपेट में ले लिया, जिसमें बाप-बेटे समेत तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए, घायलों को पीजीआईएमएस रोहतक रेफर किया गया है. सभी पीड़ित शादियों में वेटर का काम करते थे.

पुलिस ने बताया कि अजमेर बस्ती निवासी राजू (55), उसका बेटा मोनू (24), मोहल्ले का ही मोहित (17), भूपेंद्र नगर निवासी सोनू, दुर्गा बस्ती निवासी सतीश, अजमेर बस्ती निवासी बादशाह, संदीप, कमरूद्दीन शादियों में वेटर का कार्य करते हैं. रविवार सुबह ये सभी लोग तिपहिया वाहन पर सवार होकर गांव भकलाना (हिसार) में एक विवाह कार्यक्रम में वेटर का कार्य करने के लिए निकले थे. उन्होंने बताया कि वाहन चालक ने उन्हें गांव रामगढ़ बस अड्डे पर छोड़ दिया, जहां ये सभी ठंड से बचने के लिए चाय की एक दुकान के पास अलाव सेंकने लगे. उसी दौरान जींद की तरफ से आ रही तेज रफ्तार एक कार ने आग सेक रहे आठों लोगों को कुचल दिया, जिसमें राजू, उसके बेटे मोनू एवं पड़ोसी मोहित की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पांच अन्य घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए सामान्य अस्पताल पहुंचाया गया. चिकित्सकों ने सोनू, सतीश, कमरूद्दीन की हालत गंभीर देख उन्हें पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया.

घटना के बाद चालक मौके से फरार
उन्होंने बताया कि घटना इतनी भीषण थी कि गाड़ी सड़क से लगभग 30 फुट दूर जाकर पलट गई. घटना के बाद चालक मौके से फरार हो गया. उन्होंने बताया कि घटना की सूचना पाकर सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और हालातों का जायजा लिया. सदर थाना पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम करवाकर उन्हें परिजन को सौंप दिया. घायल संदीप की शिकायत पर पुलिस ने फरार कार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. सदर थाना के कार्यवाहक प्रभारी देवीलाल ने बताया, ‘‘कार जींद से भिवानी की तरफ जा रही थी, जिसने अनियंत्रित होकर अलाव सेक रहे लोगों को कुचल दिया. घटना में तीन लोगों की मौत हो गई और पांच घायल हो गए. फरार कार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.