अलीगढ़. महात्मा गांधी के पुण्यतिथि 30 जनवरी पर उनके पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा की नेता पूजा पांडे और उसके पति अशोक पांडे को बुधवार को लोकल कोर्ट में पेश किया गया. दोनों तप्पल इलाके से गिरफ्तार किया गया था. इस दौरान कोर्ट के बाहर मीडिया से बात करते हुए पूजा ने कहा कि हमें इसका कोई खेद नहीं है. हमने किसी तरह का अपराध नहीं किया है. हमने अपने संवैधानिक अधिकारों का निर्वहन किया है.

बता दें कि हर साल 30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के दिन देश में शहीदी दिवस मनाया जाता है. इसी दिन हिंदू महासभा नाम के एक संगठन ने अलीगढ़ में पूजा पांडे के नेतृत्व में कुछ लोगों ने बापू के पुतले को गोली मारकर नाथूराम गोडसे को अपनी तरफ से श्रद्धांजलि दी. इसका वीडियो इंटरनेट पर वायरल होने के बाद पुलिस ने मामले का संज्ञान लिया और वायरल वीडियो के आधार पर मामला दर्ज किया.

13 लोगों के खिलाफ दर्ज था मामला
पुलिस ने हिन्दू महासभा की महिला नेता समेत 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरी ने बताया कि बुधवार को गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर नौरंगाबाद इलाके के एक घर में हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने गांधी के पुतले पर एयर पिस्टल से गोलियां दागी. इसका वीडियो वायरल हो गया.

गोडसे जिंदाबाद के लगे थे नारे
वीडियो में दिख रहा था कि पहले तो नाथूराम गोडसे की प्रतिमा पर फूल-माला पहनाई गई. बाद में वीर सावरकर को नाथूराम गोडसे का राजनीतिक गुरु बताते हुए उन्हें भारत रत्न देने की मांग भी की गई. गौरतलब है कि महात्मा गांधी की हत्या करने के अपराध में गोडसे को 15 नवंबर 1949 को फांसी दे दी गई थी.