नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के प्रकोप के कारण लगभग तीन महीने से बंद ऐतिहासिक स्मारकों को 6 जुलाई से दोबारा खोला जा रहा है. पर्यटकों को इस समय काउंटर से टिकट नहीं मिलेगा, बल्कि ऑनलाइन टिकट खरीदना होगा. जो पर्यटक ऑनलाइन टिकट खरीदने में असमर्थ होंगे, उन्हें वापस लौटना पड़ सकता है. स्मारकों के बाहर सेनिटाइजेशन का इंतजाम और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए तैयारियां की जा रही हैं, ताकि पर्यटकों को संक्रमण के खतरे से बचाया जा सके.Also Read - Coronavirus: केंद्र ने राज्यों को किया आगाह- त्योहारी सीजन में भीड़ को जमा होने से रोकने के लिए लगा सकते हैं पाबंदी

हुमायूं का मकबरा, पुराना किला और कुतुब मीनार जैसे स्मारक सोमवार से पर्यटकों के लिए खुलने को तैयार हैं. इन पर्यटकों की सुरक्षा के लिए स्मारकों को सेनेटाइज किया जा रहा है. वहीं दो गज की दूरी के लिए निशान भी बनाए गए हैं. साथ ही पयर्टकों को जागरूक करने के लिए जगह जगह पम्पलेट भी चिपकाए गए हैं. इन स्थलों पर आने वाले पर्यटकों को सरकार द्वारा तय नियमों का पूर्ण रूप से पालन करना होगा. Also Read - Coronavirus cases In India: कोरोना संक्रमण के फिर बढ़े मामले, 24 घंटे में 42 हजार से अधिक लोग हुए संक्रमित, 562 की मौत

लालकिला के संरक्षण सहायक लव कुश ने बताया, “स्मारक स्थलों पर पर्यटकों के लिए कोई टिकट काउंटर नहीं खोला जाएगा, जो भी पर्यटक घूमने आएगा, उसे कोड स्कैन करने की सुविधा स्मारक के बाहर दी जाएगी. वो हमारी वेबसाइट पर जाकर भी ऑनलाइन टिकट खरीद सकता है. यदि कोई पर्यटक ऐसा करने में असमर्थ होता है या किसी कारणवश वो ऑनलाइन टिकट नहीं खरीद सकता तो उसे वापस लौटना पड़ा सकता है.” Also Read - महाराष्ट्र के गणपति पूजा पर मंडराया कोरोना का खतरा! लालबागचा राजा के होंगे ऑनलाइन दर्शन व पूजा

हालांकि दिल्ली में कुछ स्मारक सोमवार को बंद रहते हैं, ऐसे स्मारक मंगलवार से आम नागरिकों व पर्यटकों के लिए खोले जाएंगे. पर्यटकों के लिए कई नियम तय किए गए हैं, जैसे स्मारक स्थलों पर उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. वहीं ग्रुप फोटो लेने की भी इजाजत नहीं होगी.

(इनपुट आईएएनएस)