हैदराबाद: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि भाजपा नीत एनडीए सरकार ने फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमानों को खरीदने के लिए पिछली यूपीए सरकार की तुलना में एक बेहतर सौदा किया. गृह मंत्री ने यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद कहा कि विपक्षी पार्टियां राफेल सौदे के खिलाफ इस उम्मीद में अपने आरोप दोहरा रही हैं कि लोग आखिरकार कुछ हद तक इसे स्वीकार कर लेंगे. उन्होंने कहा, ”विपक्ष हमसे राफेल के नट – बोल्ट के बारे में पूछ रहा है और जानबूझ कर या अनजाने में राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डाल रहा है. यह क्या ड्रामा है.

केंद्रीय गृह मंत्री सिंह ने कहा, ” मैं भारत के लोगों से कहना चाहूंगा कि इस सौदे पर मोलभाव यूपीए शासन के दौरान भी हुआ था. लेकिन हमने जो सौदा किया है, वह एक बेहतर सौदा है. हमने इस पर राष्ट्रहित को ध्यान में रख कर हस्ताक्षर किया.” सिंह ने कहा कि एनडीए सरकार ने जो विमान खरीदने का फैसला किया, वे युद्ध में इस्तेमाल किए जाने के लिए तैयार हैं.

हैदराबाद में भाजयुमो का सम्मेलन रविवार को संपन्न हो रहा है. इसमें केंद्रीय मंत्री और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों सहित पार्टी के कई राष्ट्रीय नेता शरीक हो रहे हैं.

बता दें कि 58,000 करोड़ रुपए का राफेल सौदा राजनीतिक विवाद के केंद्र में है. बीजेपी नीत राजग पर कांग्रेस इस सौदे में गड़बड़ी करने का आरोप लगा रही है. वहीं, सरकार सभी आरोपों को खारिज कर रही है.

सितंबर 2016 में भारत ने राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए फ्रांस के साथ एक अंतर- सरकारी समझौते पर हस्ताक्षर किया था. इन विमानों की आपूर्ति सितंबर 2019 से शुरू होने की उम्मीद है.