नई दिल्ली: भाजपा अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में शुक्रवार को पेश आम बजट को ‘नये भारत’ को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच को परिलक्षित करने वाला बजट करार दिया. उन्होंने कहा कि यह ‘किसानों को समृद्ध और गरीब को सम्मानपूर्ण जीवन’ व्यतीत करने में सहायक होगा.

 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा लोकसभा में आम बजट प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद गृह मंत्री ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा कि बजट में मध्यम वर्ग को उनके कठिन परिश्रम का फल और भारतीय उद्यमियों को मजबूती मिलेगी. यह सही अर्थो में उम्मीद और सशक्तिकरण का बजट है. शाह ने कहा कि वित्त मंत्री ने नये भारत के निर्माण के लिये बजट पेश किया है जो समावेशी और प्रगतिशील राष्ट्र की बुनियाद रखने वाला है. बजट किसानों, युवाओं, महिलाओं और गरीबों की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला है. \

महिलाओं, छात्रों से लेकर व्यापारियों तक के लिए… जानें मोदी सरकार के आम बजट की 20 अहम बातें

उन्होंने कहा कि नये भारत का बजट पिछले पांच वर्षो में अर्थव्यवस्था, आवास, आधारभूत ढांचा और सामाजिक क्षेत्र से जुड़े विविध क्षेत्रों में अभूतपूर्व कार्यो को रेखांकित करता है. उन्होंने कहा कि इस आधार पर यह उम्मीद का भाव जागृत करता है कि आने वाले वर्षो में भारत 5000 अरब डालर की अर्थव्यवस्था बन सकता है.

Union Budget 2019: बजट में कौन सी चीजें महंगी और कौन होंगी सस्‍ती, देखें लिस्‍ट

वित्त मंत्री ने पेश किया ‘भविष्योन्मुखी बजट’
अमित शाह ने कहा कि वित्त मंत्री ने ‘भविष्योन्मुखी बजट’ पेश किया है. यह बजट ऐसे क्षेत्रों का समावेशी खाका प्रस्तुत करता है जो हमारे नागरिकों को विकास एवं नवोन्मेष के पथ पर आगे ले जायेगा. उन्होंने कहा कि इसमें स्वच्छ ऊर्जा और कैशलेस लेनदेन पर जोर दिया गया है जो सही दिशा में उठाया गया कदम है. गृह मंत्री ने कहा कि नये भारत के लिये आज का बजट प्रत्येक नागरिकों को पेयजल, पूरे देश को बिजली सम्पर्क से जोड़ने और विनिर्माण क्षेत्र को मजबूती प्रदान करने के हमारे सामूहिक सपने को पूरा करने का मंच तैयार करता है. यह बजट भारत को अधिक विविधतापर्ण स्टार्ट अप केंद्र बना सकेगा.

कांग्रेस ने कहा- नई बोतल में पुरानी शराब जैसा है मोदी सरकार का बजट, कुछ भी नया नहीं