Nirbhaya Case: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने निर्भया मामले के दोषियों में से एक की दया याचिका शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजी. मंत्रालय ने याचिका को अस्वीकार करने की सिफारिश की है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्या मामले में मौत की सजा पाए चार दोषियों में से एक मुकेश सिंह ने दया याचिका कुछ दिन पहले ही दायर की थी. Also Read - IB और RAW में करना चाहते हैं नौकरी, तो जानें क्या होती है क्ववालीफिकेशन, कैसे होता है सेलेक्शन

एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्रालय ने मुकेश सिंह की दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेज दी है. मंत्रालय ने याचिका को अस्वीकार करने की दिल्ली के उप राज्यपाल की सिफारिश दोहराई है. दिल्ली के उप राज्यपाल ने बृहस्पतिवार को मुकेश सिंह की दया याचिका गृह मंत्रालय को भेजी थी. इसके एक दिन पहले दिल्ली सरकार ने याचिका अस्वीकार करने की सिफारिश की थी. Also Read - Unlock Guidelines: केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, 1 से 28 फरवरी तक होगा प्रभावी- जानें क्या-क्या मिलेंगी रियायतें...

दिल्ली की एक अदालत ने चारों दोषियों.. मुकेश सिंह (32), विनय शर्मा (26), अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन गुप्ता (25) को सुनाई गई मौत की सजा पर अमल का आदेश ‘‘डेथ वॉरंट’’ सात जनवरी को जारी किया था. उन्हें 22 जनवरी को सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में फांसी होनी है. हालांकि दिल्ली सरकार ने उच्च न्यायालय को बताया कि दोषियों को 22 जनवरी को फांसी नहीं हो पाएगी क्योंकि मुकेश सिंह ने दया याचिका दायर की है. Also Read - 72nd Republic Day: गणतन्त्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने दिया देश के नाम संबोधन, भारतीय सेना को किया सलाम; चीन पर साधा निशाना