विजयवाड़ा: फिर एक बेटी की जान हॉनर किलिंग में चली गई और जान लेने वाला कोई गैर नहीं, बल्कि उसका पिता ही है. आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में ‘ऑनर किलिंग’ का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. जहां एक लड़की दूसरी जाति के लड़के से प्यार करती थी. दो साल तक उसका प्यार चला, इस बीच 8 महीने पहले पिता को बेटी के प्रेम संबंधों का पता चल गया था. पिता ने चेताया लेकिन लड़की नही मानी और बीते 2 फरवरी को वह घर छोड़ प्रेमी के साथ भागकर एक गांव पहुंच गई. पिता आखिर अपनी बेटी को घर वापस ले आया लेकिन दोनों के बीच बहस हो गई तो बाप ने गुस्से में बेटी का गला ही घोंट दिया. बता दें कि
प्रकाशम जिले में प्रतिष्ठा के नाम पर हत्या की यह चौथी और थल्लूर में तीसरी वारदात है.

पुलिस के मुताबिक, बाप ने दूसरी जाति के एक लड़के के साथ प्रेम संबंध होने के कारण अपनी बेटी की हत्या कर दी. थल्लूर प्रखंड के कोट्टापलेम गांव में के. वेंका रेड्डी नामक शख्स ने सोमवार को अपनी 20 वर्षीय बेटी के. वैष्णवी की गला घोंटकर हत्या कर दी.

इसके बाद में उसने रिश्तेदारों और ग्रामीणों को बताया कि दिल का दौरा पड़ने के कारण उसकी बेटी की मौत हुई है. गोपनीय सूचना मिलने पर पुलिस गांव पहुंची. पुलिस को वैष्णवी के शरीर और खासकर गर्दन पर चोट के निशान मिले. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और थल्लूर पुलिस थाने में मामला दर्ज कर दिया गया है.

ओंगोल शहर के एक निजी कॉलेज में बी.कॉम द्वितीय वर्ष में पढ़ने के दौरान वैष्णवी को अपने सहपाठी से प्यार हो गया, जो दूसरी जाति से था और लिंगसमुद्रम गांव में रहता था. इनका प्रेम संबंध दो साल तक चला. आठ महीने पहले लड़की के माता-पिता को इसकी भनक लग गई और उन्होंने बेटी चेतावनी दी.

दो फरवरी को वैष्णवी ने अपना घर छोड़ दिया और अपने प्रेमी के साथ भागकर माकार्पुरम पहुंची. इसकी जानकारी मिलने के बाद वैष्णवी के माता-पिता उसे वापस घर ले आए. इसके बाद बाप और बेटी में काफी बहस हुई और गुस्से में आकर रेड्डी ने अपनी बेटी का गला घोंट दिया.