नई दिल्ली: भीषण गर्मी और लू के प्रकोप से देश भर में आगलगी की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं. बढ़ते तापमान के चलते सड़क पर चलती गाड़ियां और यार्ड में खड़ी ट्रेन की बॉगी में आग लग रही है. उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में आज बारिश हुई, लेकिन राज्य के 13 में से आठ जिले जंगल की आग की चंगुल में हैं. मंगलवार को ही सुबह से आगजनी की तीन बड़ी घटनाएं देखने को मिलीं. Also Read - Mukesh Ambani के घर Antilia के बाहर वाहन खड़ा करने की जिम्मेदारी लेने वाला पत्र हो सकता है फर्जी: मुंबई पुलिस

मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनल पर मंगलवार दोपहर यार्ड में खड़ी ट्रन में आग लग गई. दमकलकर्मियों की मदद से जब तक इस पर काबू पाया गया, तब तक ट्रेन की एक बॉगी करीब-करीब पूरी तरह जल चुकी थी. हालांकि, आग के कारण का अब तक पता नहीं लग पाया है, लेकिन आशंका है कि तेज गर्मी इसकी वजह हो सकता है. Also Read - Petrol Diesel Prices: बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम तो वकील ने जताई अनोखी इच्छा, प्रशासन हैरान

इससे पहले उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में भी आज सुबह भीषण आग लगी थी. आग की लपटों और धुआं से पूरा आसमान भर गया था. बता दें कि उत्तर प्रदेश के अधिकांश इलाके पिछले कई दिनों से भयंकर गर्मी की चपेट में हैं.

गर्मी के मौसम में उत्तराखंड के जंगलों में आग कोई नई बात नहीं है, लेकिन इस साल इसका प्रकोप ज्यादा है. मंगलवार दोपहर को राज्य के टिहरी जिले घंसाली बाजार क्षेत्र के जंगलों में फिर से आग लग गई. यह इतनी भीषण थी कि आपास के लोगों को अपने घर छोड़ सुरक्षित जगहों पर शरण लेनी पड़ी.

इस बीच अच्छी खबर यह है कि इस बार मानसून ने वक्त से पहले ही केरल में दस्तक दे दी है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दक्षिण पश्चिम मानसून अपने तय समय से तीन दिन पहले केरल पहुंच गया है. दक्षिणी राज्य में मानसून का पहुंचना देश में चार महीने तक चलने वाले बारिश के मौसम की शुरुआत का प्रतीक है. देश में मानसून पहुंचने की आधिकारिक तारीख एक जून है और इसे पूरे देश में सक्रिय होने में डेढ़ महीने का समय लगता है. आईएमडी ने इस साल सामान्य बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया है.