नई दिल्ली। बिहार के बक्सर जिले में तैनात डीएम मुकेश पांडेय का शव गुरुवार को गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर मिला. पुलिस का मानना है कि उन्होंने आत्महत्या की है. दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि जांच से यह बात मालूम हो रही है कि पांडेय का अपने घर वालों से तनाव चल रहा था. न पत्नी खुश थी, और न ही घरेलू झगड़े से अभिभावक. उन्होंने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है.Also Read - नोएडा के डॉक्टर ने की सुसाइड, 14 दिन बाद सफाई करते वक़्त खुला राज, पत्नी ही करती थी...

मुकेश पांडेय ने आत्महत्या करने जाने के पहले अपने घर टेलीफोन से एक संदेशा भेजा था. इस संदेशे में उन्होंने जिन्दगी से तंग आ जाने और अच्छाई से विश्वास उठ जाने की बात की थी. इस सन्देश के मिलते ही परिवार वाले बेचैन हो गए थे. फिर बिहार से किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दिल्ली पुलिस को संपर्क साधा और मदद करने को कहा. Also Read - एक-दूसरे को कपड़े से बाँध कुएं में कूदे लड़का-लड़की, सुसाइड नोट में लिखी चौंकाने वाली आखिरी ख्वाहिश

दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई घर भेजे गए संदेशे के आधार पर ही शुरू की. इस संदेशे में यह भी लिखा था कि मैं अपना सुसाइड नोट दिल्ली के होटल लीला पैलेस के रूम नंबर 742 में छोड़ दूंगा. दिल्ली पुलिस संदेशे के आधार पर लीला पैलेस पहुंची. कमरे में IAS मुकेश पांडेय का सुसाइड नोट मिल गया. आगे जानकारी यह जुड़ती गई कि वे जनकपुरी इलाके के होटल पिकाडिली के करीब में छत से कूद कर जान दे देंगे. Also Read - Pati par Acid Attack: सोते रहे पति पर पत्नी ने फेंका तेजाब, फिर 5 साल के बेटे के साथ कुएं में कूदी

यह भी पढ़ेंः बक्सर डीएम मुकेश पांडेय ने किया सुसाइड, गाजियाबाद स्टेशन पर मिला शव

इसके बाद दिल्ली पुलिस दौड़ी-दौड़ी जनकपुरी में बताए स्थान पर गई. लेकिन यहां किसी के आत्महत्या करने की कोई निशानदेही नहीं मिली. लेकिन मोबाइल प्राप्त हो गया. पुलिस ने अब आगे की जांच शुरू की. दिल्ली में सबों को अलर्ट किया गया. तभी गाजियाबाद रेल पुलिस से खबर मिली कि एक व्यक्ति ने ट्रेन से कटकर जान दे दी है. व्यक्ति देखने में ठीकठाक लग रहा है लेकिन चेहरा इतना विक्षिप्त है कि पहचान नहीं की जा सकती.

दिल्ली पुलिस के अधिकारी भागे-भागे गाजियाबाद पहुंचे. मिली लाश की शिनाख्त IAS मुकेश पांडेय के रूप में ही हुई. यहां भी मुकेश पांडेय ने एक ऐसा पुर्जा छोड़ दिया था, जिससे उनकी पहचान हो जाती. शव को देखने से पता चला कि आत्महत्या करने के लिए IAS मुकेश पांडेय ने अपने सिर को पटरी पर रख दिया था. खबर लिखे जाने तक शव को पोस्टमार्टम में भेजे जाने की तैयारी की जा रही थी.

मुकेश पांडेय 2012 बैच के आईएएस अधिकारी थे. उनका होमटाउन बिहार का छपरा बताया जा रहा है. हाल ही में बिहार के बक्सर जिले में उनकी तैनाती हुई थी. बक्सर से दो दिन पहले पटना के लिए निकले थे. लेकिन किसी पारिवारिक काम के सिलसिले में गाजिबाद आ गए और होटल लीला में ठहरे हुए थे.

बताया जा रहा है कि मुकेश पांडे दो दिन पहले ही बक्सर से पटना के लिए निकले थे. बिहार के चीफ सेक्रेटरी अंजनी कुमार सिंह का कहना है कि वो गाजियाबाद पुलिस से अधिक जानकारी मिलने की प्रतीक्षा कर रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी घटना पर नजर बनाए हुए हैं. मुकेश पांडेय की मौत पर आईएस एसोसिएशन ने भी दुख व्यक्त किया है.