नई दिल्ली: कार्य स्थलों पर कोरोना संक्रमण को रोकने एवं कोरोना से बचाव के लिए भारत सरकार ने दिशा निर्देश जारी किए हैं. ये दिशानिर्देश एक पुस्तिका के रूप में हैं, जिसमें कार्यस्थल पर श्वसन नियंत्रण, लगातार हाथ धोने, सामाजिक दूरी रखने और कार्यस्थल को निरंतर सैनिटाइज करने जैसे संक्रमण नियंत्रण उपाय हैं. इनके आधार पर कार्यस्थल को सुरक्षित बनाए रखने हेतु सभी महत्वपूर्ण उपायों को सम्मिलित किया गया है. यह संरचनात्मक एवं प्रशासनिक उपायों और मानव संसाधन नीतियों का विवरण देता है, जिनका उपयोग कार्यस्थल पर कोविड-19 के फैलाव को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है. Also Read - दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, एक नवंबर से बसों की सभी सीटों पर यात्रा कर सकते हैं यात्री

कोविड-19 की अवस्थिति से संबंधित विभिन्न कार्यों के जोखिम के मूल्यांकन, वर्गीकरण एवं न्यूनीकरण हेतु मार्गदर्शन और संभाव्य स्थिति योजना भी दिशानिर्देश में प्रदान किए गए हैं. कार्यस्थल पर बीमारी की स्थिति में आइसोलेशन एवं प्रबंधन को विस्तार से दिया गया है. सुरक्षा दिशानिदेशरें में सभी हितधारकों के लिए सामाजिक संव्यवहार हेतु क्या करें और क्या न करें, को भी सूचीबद्ध किया गया है. Also Read - डिज्नी वर्ल्ड ने 28 हजार कर्मियों की छंटनी का किया था फैसला, अब 11 हजार पर लटकी तलवार

नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा, “औद्योगिक कामगारों के लिए कार्यस्थल दिशा-निदेशरें का हमारे देश के औद्योगिक कार्यबल में कोविड-19 रोग फैलाने से रोकने में बहुत महत्व है. ये महत्वपूर्ण भूमिका निभाकर यह सुनिश्चित कर रहे हैं, कि वैश्विक महामारी से देश के उत्पादन और अर्थव्यवस्था में बाधा उत्पन्न न हो. साथ ही, औद्योगिक कामगार और उनका परिवार सुरक्षित और भय से मुक्त रहना चाहिए.” Also Read - How To Stay Safe In Gathering: कोरोना के दौर में आप जा रही हैं किसी शादी या फंक्शन में तो इन खास बातों का रखें ध्यान

कोविड-19 से मुकाबला करने हेतु

नियोजकों और श्रमिकों को उनके परिसरों में व्यक्तिगत कार्यस्थल व्यवस्थाओं में कोविड-19 के जोखिम स्तर को पहचानने में सहायता करने, प्रयोग करने और उपयुक्त नियंत्रण उपायों को निर्धारित करने हेतु एक व्यापक योजना मार्गदर्शन के रूप में दिशानिर्देश तैयार किए गए हैं.

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और श्रम राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार ने संयुक्त रूप से दिनांक मंगलवार को विडियो कॉन्फ्रेन्स के माध्यम से कोविड-19 से युद्ध के लिए उद्योग एवं स्थापना के लिए सुरक्षित कार्यस्थल दिशा-निर्देश जारी किए. डॉ. वी के पाल, सदस्य, नीति आयोग जिनके मार्गदर्शन में ये दिशानिर्देश तैयार किए गए, वे भी विशिष्ट अतिथि के रूप में इन्हे जारी करने में शामिल हुए.

डॉ. हर्षवर्धन ने समय-समय पर जारी सुरक्षा दिशा-निदेशरें का अनुपालन करने की आवश्यकता पर बल दिया. उन्होंने कोविड-19 के विरूद्ध लड़ने के लिए किए गए प्रयासों और देशभर में सामान्य जनता को उत्कृष्ट कोविड-19 देखभाल प्रदान करने की सराहना की. उन्होंने कार्यस्थल सुरक्षित रखने के साथ कारोबारी गतिविधियों में निरंतरता बनाए रखने हेतु, उद्योगों और स्थापनाओं को जारी दिशा-निदेशरें के अनुसार चलने और तद्नुसार कार्यस्थलों एवं प्रक्रियाओं में आवश्यक आशोधन, परिवर्तन करने पर बल दिया.

संतोष कुमार गंगवार ने हाल में पारित किए गए तीन लेबर बिलों की प्रशंसा की. उन्होंने कहा, “इन बिलों के पारित होने से अब और अधिक श्रमिक सामाजिक सुरक्षा के हित लाभ प्राप्त करेंगे. ये बिल व्यापार करने में आसानी (इज ऑफ डूइंग बिजनेस) को भी सुनिश्चित करेंगे.” गंगवार ने व्यापारिक समुदाय और श्रमिकबल से आग्रह किया है कि कोविड-19 महामारी के फैलाव को रोकने के लिए दिशानिदेशरें का पालन करें तथा व्यावसायिक गतिविधियों को बनाए रखें.