नई दिल्लीः वेटनरी डॉक्टर से रेप और फिर मर्डर करने वाले आरोपियों के एनकाउंटर मामले में एक नया मोड़ आ गया है. तेलंगाना हाईकोर्ट ने एनकाउंटर में मारे गए सभी चारों आरोपियों की दोबारा पोस्टमार्टम कराने का आदेश दिया है. इससे पहले कोर्ट ने मारे गए चारों आरोपियों के शवों को गांधी हॉस्पिटल के मर्च्युरी में रखने के आदेश दिए थे.

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से चारो आरोपियों के एनकाउंटर की जांच के मामले में तीन सदस्यी आयोग का गठन किया गया है. कोर्ट द्वारा गठित इस जांच आयोग में मुंबई हाईकोर्ट की पूर्व जज रेखा बलदोटा और सीबीआई के पूर्व निदेशक कार्तिकेयन शामिल हैं.

27 नवंबर को वेटनरी डाक्टर के साथ चार लोगों ने रेप करके जिंदा जला दिया था. इस मामले से पूरे देश में गुस्सा का माहौल पैदा हो गया था जिसके बाद 6 दिसंबर की सुबह पुलिस ने एक एनकाउंटर में चारो आरोपियों को मार गिराया था. पुलिस ने बाताय था कि जब वह वारदात वाली जगह पर आरोपियों को री-सीन क्रिएट के लिए ले गई थी तो उन्होंने भागने की कोशिश की और मजबूरी में पुलिस को एनकाउंटर करना पड़ा.

पुलिस के इस एनकाउंटर को फर्जी बताया गया और इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट और तेलंगाना हाई कोर्ट में याचिकाएं दाखिल की गई. आज तेलंगाना हाईकोर्ट में सुनवाई करते हुए चारो आरोपियों का दोबारा पोस्टमार्टम कराने के आदेश दिए हैं. उधर दूसरी तरफ मानवाधिकार आयोग ने भी इस एनकाउंटर के खिलाफ आवाज उठाई थी.