नई दिल्‍ली: लोकसभा में सोमवार को कांग्रेस के सीनियर नेता को अपनी उस बयान से किनारा करना पड़ा, जिसमें उन्‍होंने पीएम की तुलना ‘नाली’ से कर दी थी. दरअसल, लोकसभा में भाषण देते हुए कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने एक बीजीपी के सांसद के उस बयान पर विवादित टिप्‍पणी की, जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी के नाम को स्‍वामी विवेकानंद के मूल नाम नरेंद्रनाथ से की.

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को लोकसभा में पीएम नरेंद्र मोदी के सामने ही उनको लेकर यह विवादित टिप्‍पणी कर दी. इसके बाद वे अपनी इस टिप्‍पणी से किनारा करते हुए पीएम से माफी मांगने की बात तक उतर आए. कांग्रेस नेता चौधरी ने अपनी टिप्‍पणी पर कहा कि उन्‍होंने पीएम को ‘नाली’ नहीं कहा है, यह एक गलतफहमी है. अगर इससे पीएम नाराज हैं, तो मैं दुखी हूं. उन्‍हें हर्ट करने का मेरा कोई इरादा नहीं था. अगर पीएम को चोट पहुंची है तो मैं व्‍यक्‍त‍िगततौर पर उनसे माफी मांगता हूं. मेरी हिंदी अच्‍छी नहीं है. नाली से मेरा आशय चैनल है. जब उनके मुंह से ये विवादित शब्‍द निकला, तब वे राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोल रहे थे.

कांग्रेस सांसद चौधरी ने कहा कि एक बीजेपी सांसद ने स्‍वामी विवेकानंद की तुलना उनके नाम की समानता से की. इससे बंगाल के जज्‍बातों को चोट पहुंचती है. यही कारण है कि मैंने कहा, आप मुझे उत्‍तेजित कर रहे हो. अगर आप यह जारी रखते हो तो मैं कहूंगा कि आप गंगा की तुलना नाली से कर रहे हो. चौधरी ने ये साफाई संसद से बाहर आकर दी है.

चौधरी ने लोकसभा में सत्‍तारूढ़ सवाल किया कि यदि कांग्रेस एक ‘भ्रष्ट’ पार्टी है, तो सोनिया गांधी और राहुल गांधी को अब तक जेल क्यों नहीं हुई. इससे पहले केंद्रीय मंत्री प्रताप चंद्र सारंगी ने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार की आलोचना की और उनके कार्यकाल के दौरान हुए घोटालों का जिक्र किया. सारंगी की बात पर प्रतिक्रिया देते हुए चौधरी ने पूछा कि क्या मोदी सरकार इन घोटालों में किसी को गिरफ्तार कर पाई है.

चौधरी ने कहा कि भाजपा कांग्रेस नेताओं को चोर बताकर सत्ता पर काबिज हुई, लेकिन कांग्रेस के नेता अब भी संसद में बैठे हैं. उन्होंने पूछा, “क्या आपकी सरकार सोनिया जी और राहुल जी को जेल भेजने में कामयाब हो पाई है.”

चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक महान विक्रेता हैं. उन्होंने कहा, “वह अपने उत्पाद को बेचने में सक्षम रहे, जबकि कांग्रेस ऐसा करने में विफल रही.” कांग्रेस नेता चौधरी ने कहा कि बांधों के निर्माण, कंप्यूटर लाने और अपने कार्यकाल के दौरान अंतरिक्ष प्रौद्योगिकियों और मिसाइलों को विकसित करने के बावजूद कांग्रेस अपनी उपलब्धियों को जनता के साथ साझा नहीं कर पाई. (इनपुट: एजेंसी)