नई दिल्‍ली: कांग्रेस के सीनियर नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने पार्टी के महासचिव के पद से इस्‍तीफा दे दिया है. सिंधिया ने अपने ट्वीट में कहा, मैंने आज इस्‍तीफा नहीं दिया. मैंने अपना इस्‍तीफा 8-10 दिन पहले दे दिया था. उन्‍होंने कहा कि मैं एक ऐसा नेता नहीं हूं, जो दूसरों को आदेश देता है. मैं सोचता हूं कि जब यह एक जिम्‍मेदारी है, तो वहां जवाबदेही आ जाती है. यहां तक कि मैं जिम्‍मेदार हूं यदि प्रदर्शन अच्‍छा नहीं है और इसलिए मैंने इस्‍तीफे का निर्णय किया. सिंधिया के बयान के कुछ ही घंटे पहले मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा भी अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव पद के इस्‍तीफा देने के बाद सिंधिया ने कहा, जनता के फैसले के स्‍वीकारते हुए और जिम्‍मेदारी लेते हुए मैंने एआईसीसी के जनरल सेक्रेटी के पद से इस्‍तीफा राहुल गांधी को सौंप है. मैं उन्‍हें यह जिम्‍मेदारी देने के साथ मुझ पर भरोसा करने के लिए और पार्टी की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्‍यवाद देता हूं.

हरीश रावत छोड़ेंगे राजनीति! ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने महासचिव पद से इस्‍तीफा दिया

कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए रविवार को अपने पद से इस्तीफा देने के संबंध‍ में बयान दिया है. सिंधिया ने ट्वीट किया, “जनादेश और जवाबदेही को स्वीकारते हुए मैंने अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव पद से अपना इस्तीफा श्री राहुल गांधी को सौंप दिया है.”

सिंधिया ने लिखा, “इस जिम्मेदारी के लिए मुझपर भरोसा जताने और पार्टी की सेवा का मौका देने के लिए मैं उनका आभारी रहूंगा.” सिंधिया से कुछ ही घंटे पहले मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा भी अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं.