नई दिल्ली: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ मतभेद और नाराजगी की अटकलों के बीच राज्य के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक सिद्धू ने कांग्रेस की दोनों शीर्ष नेताओं के समक्ष अपने मुद्दे रखे, जिस पर उन्हें पार्टी के भीतर पूरा मान-सम्मान दिए जाने का भरोसा दिया गया. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, ”मुझे पार्टी आलाकमान ने दिल्ली बुलाया था, मैं प्रियंका जी और सोनिया जी से 25 और 26 फरवरी को मिला था. मैंने उन्हें पंजाब की मौजूदा स्थिति और आगे के रोडमैप के बारे में जानकारी दी.” Also Read - मनीष सिसोदिया का बयान- दिल्ली सीमा पर हरियाणा, पंजाब और राजस्थान से पहुंचे लोग

मुलाकात के बाद सिद्धू ने एक बयान जारी कहा, ”दोनों नेताओं ने बहुत धैर्य के साथ मेरी बात सुनी. मैंने उन्हें पंजाब के मौजूदा हालात से अवगत कराया और पंजाब के पुनरुत्थान तथा राज्य को आत्मनिर्भर बनाने का एक रोडमैप उनके साथ साझा किया.” Also Read - यूपी: रायबरेली में सोनिया गांधी के 'लापता' होने के लगे पोस्टर, संसदीय क्षेत्र से बाहर होने पर उठे सवाल

सिद्धू ने कहा, ”यह वही रोडमैप है जिसको मैंने कैबिनेट में मंत्री के तौर पर कार्य करते हुए और अपने सार्वजनिक जीवन में, पिछले कई वर्षों से दृढ़ विश्वास के साथ लोगों के समक्ष रखा है.”

दरअसल, सिद्धू के पिछले कई महीनों से अमरिंदर के साथ मतभेद और नारागजी की अटकलें हैं. लोकसभा चुनाव के बाद उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.