ठाणे: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि अगर भारत के पास पहले से राफेल युद्धक विमान होते तो भारतीय वायुसेना को आतंकी शिविरों को निशाना बनाने के लिए पाकिस्तान के बालाकोट में घुसने की जरूरत नहीं होती. मुंबई के पास ठाणे जिले के मीरा भायंदर में भाजपा उम्मीदवार नरेंद्र मेहता के पक्ष में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने हाल ही में फ्रांस में पहले राफेल जेट प्राप्त करते समय शस्त्र पूजा करने का बचाव किया.

उन्होंने कहा, ‘‘अगर हमारे पास राफेल युद्धक विमान होते तो हमें बालाकोट में प्रवेश करने और हमला करने की आवश्यकता नहीं होती. हम भारत में बैठकर बालाकोट में हमला कर सकते थे.’’ सिंह ने दोहराया कि लड़ाकू विमान केवल आत्मरक्षा के लिए हैं न कि आक्रमण के लिए.

शस्त्र पूजा को लेकर हुए विवाद पर सिंह ने कहा, ‘‘मैंने विमान पर ऊं लिखा, एक नारियल (परंपरा के अनुसार) तोड़ा. ऊं कभी खत्म नहीं होने वाले ब्रह्मांड को चित्रित करता है.’’ सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने धर्मानुसार आचरण किया. ईसाई, मुस्लिम, सिख जैसे अन्य समुदाय विभिन्न शब्दों के साथ पूजा करते हैं. जब वह शस्त्र पूजा कर रहे थे तो ईसाई, मुस्लिम, सिख, बौद्ध जैसे समुदायों के लोग भी कार्यक्रम में मौजूद थे.

(इनपुट भाषा)