नई दिल्ली : चीन (China) में तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस (CoronaVirus) ने अब भारत में भी दस्तक दे दी है. भारत में कोरोना वायरस के अब तक 45 मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन इसके बाद भी भारत विदेश में फंसे अपने नागरिकों को निकलवाने के अभियान में किसी तरह की कोताही नहीं कर रहा है. चीन में फंसे नागरिकों के बाद अब भारत ने ईरान (Iran) में फंसे अपने नागरिकों को भारत लाने के अभियान में तेजी शुरू कर दी है. Also Read - Covid-19 : भारत में कोरोना के 1 हजार मामले, घर जाने को बेताब प्रवासी मजदूर, यूरोप में लगा लाशों का ढेर

भारतीय नागरिकों को वापस लाने की कड़ी में भारतीय वायु सेना IAF C-17 ग्लोबमास्टर का विमान 58 भारतीय तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को भारत ला चुका है. इन भारतीयों को ईरान के तेहरान (Tehran) से रेस्क्यू किया गया है. विमान की लैंडिंग गाजियाबाद के हिंडन वायुसेना स्टेशन पर की गई है. Also Read - Covid-19: तेलंगाना में कोरोना वायरस से पहली मौत, 6 नए मामले

मिली जानकारी के मुताबिक IAF C-17 ग्लोबमास्टर ने मंगलवार सुबह 2:00 बजे ईरान के तेहरान के लिए उड़ान भरी थी और 9:30 बजे यह विमान भारत के 58 तीर्थयात्रियों को लेकर देश वापस लौट आया. आपको बता दें कि ग्लोब मास्टर के साथ एयरफोर्स का 10 सदस्यीय चिकित्सक दल भी गया ईरान गया था. दरअसल, ईरान के तेहरान में काफी संख्या में भारतीय फंसे हुए हैं. वहीं ईरान में इन दिनों कोरोना का डर पसरा हुआ है, जिससे ईरान में फंसे भारतीयों में भी कोरोना की दहशत है. इसीलिए इस टीम को ईरान रवाना किया गया था.

बता दें कि ईरान से गाजियाबाद वापस आए लोगों में एक युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. हालांकि बताया जा रहा है कि इलाज के बाद मरीज के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है. इससे पहले भारतीय एयरफोर्स के जवान चीन के वुहान से भी भारतीयों को निकाल कर वापस भारत लाए थे.